# शकुंतला की प्रेम कहानी #..

Surrounds yourself with people who know your worth,
You don’t need too many people to be happy..
just a few real ones who appreciate you for exactly who you are…

Retiredकलम

आज मैं एक ऐसे कहानी के बारे में बताने जा रहा हूँ जिसमे प्रेम के प्रतिफल के रूप में भरत का जन्म हुआ था, जो कालांतर में देश के महान शासक बने | उन्ही के नाम पर हमारे देश का नाम भारत पड़ा |

कहानी कुछ इस तरह है कि एक बार महर्षि विश्वामित्र तपस्या में लीन थे | बहुत दिनों तक जब उनकी तपस्या नहीं टूटी तो स्वर्गलोक के राजा इन्द्र को अपनी सिंघासन के खो जाने भय सताने लगा |

क्योंकि कोई भी तपस्वी अपने तपस्या के बूते पर स्वर्गलोक की गद्दी प्राप्त कर सकता था |

ऐसा मन में भाव आते ही भगवान् इन्द्र ने विश्वामित्र जी की तपस्या भंग करने के लिए बहुत बार प्रयास किया परन्तु वे सफल नहीं हो सके |

अंत में उन्होंने स्वर्ग की अप्सरा मेनका को विश्वामित्र की तपस्या भंग करने के लिए पृथ्वी लोक पर भेजा, जहाँ उसे अपनी सुन्दरता…

View original post 1,833 more words



Categories: Uncategorized

4 replies

  1. ऐतिहासिक कहानी 👌👌

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: