Uncategorized

# कहाँ गए वो दिन #….5

Originally posted on Retiredकलम:
हँसकर जीना दस्तूर है ज़िन्दगी का एक ही किस्सा मशहूर है ज़िन्दगी का बीते हुए पल कभी लौट कर नहीं आते यही सबसे बड़ा कसूर है ज़िन्दगी का रोने का टाइम कहाँ ..सिर्फ मुस्कुराओ यारों, क्योंकि,…

# कलयुग का दशरथ #…4

Originally posted on Retiredकलम:
जी चाहता है चुरा लू, दुःख सभी की जिंदगी से, –की देख ना पाऊं दुःख, इक पल भी किसी के चेहरे पे,चाहत है हो दुनिया ऐसी, जहाँ दिखे हर एक की आँखों में ख़ुशी,रोये तो रोये…

# कलयुग का दशरथ # …3

Originally posted on Retiredकलम:
आज दशरथ बहुत खुश था | सुबह- सुबह ही अपने वृद्धाश्रम से चल कर कौशल्या के पास आ गया था. क्योकि अपने डॉ साहब के हॉस्पिटल में न तो समय का बंधन है और ना ही…

# देखना मना है #…4

Originally posted on Retiredकलम:
आज की सुबह अनकही अनजानी सी कहानी कह गई | मेरी किस्मत न जाने अब कौन सी कहानी लिख गई | आज की सुबह ने मुझे महसूस कराया कि.. मैं कौन हूँ ?और ?क्या हूँ.. मेरे…

# खुशियों के आँसू #..3

Originally posted on Retiredकलम:
कल का blog publish  करने के बाद बहुत दोस्तों के message आने लगे, एक ने तो लिखा कि मेरी संघर्ष पूर्ण जीवन यात्रा की बेहतर प्रस्तुति थी | कैसे कैसे परिस्थितियों का सामना किया था मैंने…

# कलयुग का दशरथ #…2

Originally posted on Retiredकलम:
आप अपनी पत्नी का मेडिकल रिपोर्ट लेकर आइयेगा ?और उसके बाद मैं स्पेशलिस्ट डॉक्टर से इस पर विचार – विमर्श करूँगा | ज़रुरत पड़ी तो हमलोग उस हॉस्पिटल में जाकर उनकी स्थिति की जांच भी करेंगे…

# कलयुग का दशरथ #…1

Originally posted on Retiredकलम:
आज डॉ साहब के क्लिनिक पर बहुत ?भीड़ थी | दशरथ जब कम्पाउण्डर के पास पहुँचा तो उसने बताया कि उसका नंबर सातवां है | ?करीब आधा घंटे बाद उसका नंबर आएगा | लेकिन दशरथ ने…

# हँसना मना है #..2

Originally posted on Retiredकलम:
आज सारी रात परेशानी में गुजर रही थी,| दिन की घटना के बाद हमलोग चारों दोस्त मेरे घर पर ही रुक गए | रात  भर प्लानिंग (planning) चलती रही | …मकान मालिक का एजेंट (agent) जो…

चोरी – चोरी …1

Originally posted on Retiredकलम:
फ़ोन की घंटी बजी, हेल्लो वर्मा सर, आप ने मुझे पहचाना ? आज एक पुराने मित्र ने फोन ?किया ..मैं राजेश बोल रहा हूँ .. हम शिवगंज (राजस्थान) में साथ थे | मैं वहाँ बिजली विभाग…

# हवाई जहाज की पहली यात्रा #

Originally posted on Retiredकलम:
मुझे अच्छी तरह  याद है वो दिन, जब पहली बार हवाई जहाज में बैठा था | कुछ दिनों पहले तक जब भी मैं आकाश में किसी जहाज को उड़ते देखता था तो मैं थ्रिल हो जाता…