सकारात्मक विचार- 15

पा लेने की बेचैनी और खो देने का डर , बस ,इतना ही है ज़िन्दगी का सफ़र सकारात्मक सोच कैसे रखे सकारात्मक सोच एक शक्ति है, एक शस्त्र है, जो भगवान् ने हमें दिया है |  इसका प्रयोग कर हम बड़े से बड़े युद्ध  में भी विजय प्राप्त कर सकते है | जीवन में हमेंContinue reading “सकारात्मक विचार- 15”

सकारात्मक विचार – 14

मिले  जहां जब भी जो  खुशी,फैला  के दामन  बटोरा  करो,जीने  का  हो अगर   नशा,हर  घूंट में जिंदगी  को पिया करो,किस्तों  में  मत  जिया   करो ….. यह सच है कि हमारी सोच पर बहुत कुछ निर्भर करता है | अगर  हमारी  सोच सकारात्मक होंगे तो  आस पास के वातावरण में पॉजिटिव vibes का संचारContinue reading “सकारात्मक विचार – 14”

सकारात्मक विचार …13

हम को मन की शक्ति देना , मन विजय करें दूसरों की जय से पहले, खुद को जय करें व्यक्तित्व निर्माण का प्रश्न प्रत्येक आदमी के वास्ते व्यक्तिगत सवाल है। इसका किसी दूसरे आदमी से कोई संबंध नहीं है। दूसरा कोई भी आदमी आपके मन तथा व्यक्तित्व को बलवान एवं दृढ़ नहीं बना सकता। कोईContinue reading “सकारात्मक विचार …13”

स्वर्ग का रास्ता …

मानव अपने जीवन में, कितने उपाय तलाशता .. क्यों  इतना बेचैन है,  क्यों स्वर्ग का ढूंढें रास्ता .. क्यों छोड़ दिया  हे मानव …दिन दुखियों से वास्ता .. जिस दिन उनके मन को …तू  सुकून पहुँचाएगा   इसी जन्म में आशीष से उनके..तुझे स्वर्ग मिल जाएगा  … एक सेठ अपने बिज़नस में रात दिन मिहनतContinue reading “स्वर्ग का रास्ता …”

कामयाब लाइफ़ मैनेजमेंट

मंजिलें उन्हें मिलती है ……. जो अपने रास्ते खुद बनाते है मंजिल उन्हें कभी नहीं मिलती ..जो दूसरों के रास्ते पर चलते है.. दोस्तों, आज सुबह सुबह जब मैं मॉर्निंग वाक (morning walk) कर रहा था, उसी समय मेरे मोबाइल की घंटी बज उठी | मैंने देखा तो एक बहुत ही पुराने मित्र का फ़ोनContinue reading “कामयाब लाइफ़ मैनेजमेंट”

जीवन के अर्धसत्य :

अजनबी शहर के अजनबी रास्ते, …मेरी तन्हाई पर मुस्कुराते रहे, मैं बहुत देर तक यूं ही चलता रहा, तुम बहुत देर तक याद आते रहे | ज़हर मिलता रहा ..ज़हर पीते रहे, ..रोज़ मरते रहे …रोज़ जीते रहे, ज़िदगी भी हमें आज़माती रही, …और हम भी उसे आज़माते रहे | कोई फर्क नहीं पड़ता किContinue reading “जीवन के अर्धसत्य :”

सकारात्मक विचार -12

समय चला, पर कैसे चला पता ही नहीं चला ज़िन्दगी के आपाधापी में कब निकली हमारी उम्र यारो पता ही नहीं चला … समय का महत्व खाना जो हम खाते है, उसे 24  घंटे के अन्दर शरीर से बाहर निकल जाना चाहिए, वरना हम बीमार हो जायेंगे.. पानी जो हम पीते है, वह 4  घंटेContinue reading “सकारात्मक विचार -12”

हम भी गुलाम है

गुलाम हुआ है इंसान कुछ इस कदर मोबाइल का रिश्ते मिलने को तरसते है, चाय के टेबल पर यह सच है दोस्तों कि आज कल एक छोटी सी निर्जीव वस्तु ने हम सब को अपना गुलाम बना रखा है |  हमें अपनों से इसने कब दूर कर दिया , किसी को पता ही नहीं चलाContinue reading “हम भी गुलाम है”

सकारात्मक विचार -11

जब आप सुबह उठते हैं, तो आपके पास दो विकल्प होते हैं …. सकारात्मक रहें या नकारात्मक, आशावादी रहें या निराशावादी , मैं आशावादी होना पसंद करता हूँ । ये एक द्रष्टिकोण की बात है | यह सोचने के बजाय कि आप क्या खो रहे हैं, ये सोचने की कोशिश करें कि आपके पास ऐसाContinue reading “सकारात्मक विचार -11”