# The Power of Whisky #

मन का शांत रहना भाग्य है ,
मन का वश में रहना सौभाग्य है ,
मन से किसी को याद करना अहो भाग्य है ,
मन से कोई आपको याद करे , परम सौभाग्य है …

Retiredकलम

बात उन दिनों की है जब मैं स्टेट बैंक ऑफ़  बीकानेर एंड जयपुर में ज्वाइन किया था | जी हां, उन दिनों हमारी पोस्टिंग शिवगंज,  राजस्थान में थी | घर से करीब २२०० किलोमीटर दूर और साल था १९८५ .

मैं पूरी तरह से चुस्त – दुरुस्त और अपने काम के प्रति लगन और जोश से भरा हुआ था | मैं वहाँ Rural Development Officer  के पद पर कार्यरत था | मेरा  मुख्य कार्य उस एरिया के  किसानो को ऋण मुहैया करना और किस्तों की उगाही करना था |

उन दिनों राजस्थान में भीषण अकाल पड़ रहा था और खेती के लिए  पानी की बहुत कमी थी | मैं ने वहाँ की भयावह अकाल देखी हैं, पशुओं को पानी और चारे के बिना मरते देखा है | उसी  समय से किसानो के प्रति हमारे मन में बहुत सहानुभूति है |

मैंने किसानो के साथ मिलकर बहुत सारे Irrigation Project 

View original post 1,033 more words



Categories: Uncategorized

4 replies

  1. बहुत ही अच्छी

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: