# चाय के साथ #

Your attitude is like a price tag,
it shows how valuable you are.

Retiredकलम

दोस्तों, आज कल अकेलापन बुजुर्गों की सबसे बड़ी समस्या बन गयी है |

वैसे तोबुढापा अपने आप में खुद एक बहुत बड़ी समस्या है | शरीर साथ छोड़ने लगता है, याददाश्त और सहनशक्ति बहुत कम हो जाती है | तरह तरह की बीमारियाँ घेर लेती हैं | बहुत से कामों के लिए दूसरों पर निर्भर रहना पड़ता है |

हालाँकि , यह सब तकलीफों को वे किसी तरह सहन करते हुए जी रहे है |

लेकिन उनकी सबसे बड़ी समस्या है उनमें अकेलेपन का अहसास | बच्चों के जाने-अनजाने गलत व्यवहार के कारण उन्हें अपना घर ही पराया लगने लगता है | उन्हें लगता है कि, अब घर में उनकी कोई ज़रुरत नहीं रह गयी है | वे अपने को बहुत अधिक उपेक्षित, बीमार और असहाय महसूस करते है |

कुछ बुज़ुर्ग तो इसलिए अकेला रहते है,क्योंकि बच्चे नौकरी के लिए विदेश चले जाते है और बाप माँ को यहाँ…

View original post 214 more words



Categories: Uncategorized

2 replies

  1. अत्यन्त प्रेरणादायक कविता एवं वक्तव्य

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: