# अति सर्वत्र वर्जयेत् #

हेल्लो फ्रेंड्स .

आजकल मैं व्यायाम करने के लिए  अपने सोसाइटी में बने जिम में रोज़ जाता हूँ | आज  भी मैं सुबह सुबह  जिम में चला गया था | वहाँ मैंने देखा  कि कुछ young लड़के और लडकियाँ  भी यहाँ व्यायाम कर रहे है |  अचानक मेरी नज़र  दो लड़कियों पर पड़ी | वो बहुत  High Intensity Exercise (HIIT) व्यायाम कर रही थी ,उसके शरीर से बुरी तरह पसीना बह रहा था | फिर भी बिना रुके लगातार अलग अलग मशीनों पर व्यायाम किये जा रही थी |

मुझे यह देख कर वह बात याद आ गई जो कुछ दिनों पहले ही पढ़ा  था कि दुनिया में हर साल ४० लाख से ज्यादा लोग की असामयिक  मौत के शिकार  इसलिए होते  है क्योंकि वे किसी प्रकार का  व्यायाम नहीं करते है और न ही ज़रुरत के अनुसार शारीरिक श्रम ही करते है | हालाँकि यह हमारे लिए उतना चौकाने वाली बात नहीं थी क्योंकि हमें पता है कि व्यायाम नहीं करने से तरह तरह की बिमारियों से ग्रसित  हो सकते है |

लेकिन मुझे तो यह जान कर बहुत ही आश्चर्य हो रहा है कि हमारी आबादी के प्रत्येक 1.00  लाख में 6 लोग इसलिए मर रहे है, क्योंकि वे ज़रुरत से ज्यादा शारीरिक व्यायाम करते है  |

आज कल कोरोना काल में लोग अपने खान पान और शारीरिक व्यायाम पर  ज्यादा ध्यान देने लगे है ताकि कोरोना जैसी भयंकर रोग से बचा जा सके |

लेकिन  कुछ ऐसी घटनाएँ सुनने में आ रही है कि  ज्यादा व्यायाम करने के कारण कुछ लोगों की हार्ट अटैक के कारण मौत हो रही है |

हाल में घटी दो घटनाओं पर नज़र डालें तो पता चलता है कि ज्यादा व्यायाम करना भी हमारे लिए घातक  सिद्ध हो रहा है | इसका मतलब यह हुआ कि ज्यादा आलस्य भी बुरी है और ज्यादा व्यायाम करना भी हानिकारक  है |

कहते है न .. अति सर्वत्र वर्जयेत् | जिसका हिंदी शब्दार्थ है कि “अति करने से हमेशा बचना चाहिए”, अति का परिणाम हमेशा हानिकारक होता है |

अभी हाल में ही कन्नड़ फिल्मो के सुपरस्टार पुनीत राजकुमार का दिल का दौरा पड़ने से मृत्यु हो गयी थी | वे सिर्फ ४६ साल के थे और दिल का दौरा आने से पहले उन्होंने लगातार दो घंटे तक अपने जिम में व्यायाम किया था और काफी पसीना बहाया था | वे फिटनेस के बहुत शौक़ीन थे और वो अक्सर अपने  जिम में घंटो पसीना बहाया करते थे | लेकिन जिम में व्यायाम करते हुए ही उनके सीने  में दर्द हुआ और पसीना आने लगा था  | उसके बाद वे डॉ के पास गए जहाँ उनका ECG किया गया |

उनके ECG रिपोर्ट को देख कर उन्हें तुरंत अस्पताल जाने को कहा गया  | लेकिन अस्पताल जाने के क्रम भी रास्ते में ही हार्ट अटैक की वजह से उनकी मौत हो गई | वे एक अच्छे इंसान थे और कोरोनाकाल  में बहुत लोगों की बहुत मदद की थी | लेकिन एक अच्छे दिल के इंसान को उनके दिल ने ही धोखा दे दिया |

इससे पहले इसी साल सितम्बर के महीने में मशहूर TV स्टार सिद्धार्थ शुक्ला की भी मृत्यु सिर्फ ४० साल की उम्र में हुई थी | उनका  भी दिल का दौरा पड़ने से मौत हुई थी | वो भी पुनीत राजकुमार  की तरह रोज़ कई कई घंटे जिम में बिताते थे | इन दोनों घटनाओं में कहा जाने लगा कि ज़रुरत से ज्यादा व्यायाम ने उन दोनों की  जान ले ली |

डॉ भी मानते है कि ज़रुरत से ज्यादा व्यायाम भी हार्ट अटैक का  कारण बन सकता है | आज कल युवाओं में एक नया चलन देखने को मिल रहा है | वे अपना वजन कम करना चाहते है और अपने शरीर को मनचाहा आकार  देना चाहता है, वो भी कम से कम समय में |   जिसके चक्कर में कभी कभी कुछ लोग ज़रुरत से ज्यादा व्यायाम करते है |

डॉ का कहना है कि ज्यादा intensive exercise से जहाँ महिलाओ में तरह तरह की बीमारियाँ हो सकती है , eating disorder हो सकता है , जोड़ो की हड्डियाँ कमजोर हो सकती है,  वहीँ  पुरुष में ज्यादा व्यायाम करने से हार्ट पर बुरा असर पड़ता  है और muscle disorder हो सकता है | इसके अलावा शरीर के immune system पर भी बुरा असर पड़  सकता है | मैं इसकी चर्चा यहाँ इसलिए कर रहा हूँ क्योंकि आज कल कोरोना से बचने के लिए लोग फिटनेस पर ज़रुरत से ज्यादा ध्यान  देने लगे है |  जिम में लोगों की भीड़ देखी  जा सकती  है |

मैं व्यायाम  न करने के पक्ष में नही हूँ,  लेकिन मेरा मानना है कि हरेक आदमी की अलग अलग व्यायाम करने की शारीरिक  क्षमता होती  है |  इसलिए अपनी क्षमता के अनुसार ही  व्यायाम करें |

हल्का व्यायाम के साथ साथ योगा और ध्यान करें |  मोर्निंग वाक करें और अपने  खान पान की अनुशासन को बनाये रखे तभी हमारा immune system मजबूत रहेगा ?  व्यायाम करें तो किसी ट्रेनर की देख रेख में ही जिम में पसीना बहायें | इस तरह आप सप्ताह में  पांच दिन २०-२५ मिनट व्यायाम करते है तो इसे ठीक ठाक माना जायेगा |

 आज कल तो सोशल मीडिया पर तरह तरह के डाइट को बताया जाता है | ट्रेनर तरह तरह के high intensive व्यायाम के बारे में बतला रहे है ताकि  कम समय में आपका वजन कम हो जाये और आप का शरीर सुडौल दिखे |

लेकिन सबसे ज़रूरी चीज़ यह समझना है कि आप के शरीर की एक सिमित क्षमता है | आपका शरीर खुद ही इसका आभास देता है | आप का शरीर क्या कहता है उसे आप को समझना चाहिए और उसके हिसाब से ही अपने डाइट लेना चाहिए और व्यायाम करना चाहिए |

बहुत से लोग कम से कम समय में ज्यादा से ज्यादा  परिणाम की अपेक्षा में अपने खुद की और अपने शरीर की क्षमता का ज़रुरत से ज्यादा दोहन करते है |

अच्छा दिखने की चाह और खुबसूरत शरीर का लालच उनके लिए दुखदाई और कभी कभी मौत का कारण होता है | यह ठीक ही कहा गया है कि अति सर्वत्र वर्जयेत् |

अति का परिणाम हमेशा हानिकारक होता है,..आप भी अति से बचें और अपने शरीर को सुरक्षित रखे |

पहले की ब्लॉग  हेतु  नीचे link पर click करे..

https:||wp.me|pbyD2R-1uE

BE HAPPY….BE ACTIVE….BE FOCUSED….BE ALIVE…

If you enjoyed this post, please like, follow, share and comments

Please follow the blog on social media & visit my website to click below..

        www.retiredkalam.com



Categories: motivational

4 replies

  1. बिलकुल ठीक। एक सीमा के बाद तो हर चीज नुकसानदेह होता है।

    Liked by 1 person

  2. बिल्कुल सही कहा आपने।

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: