kavita

# तुझसे मिलवाता हूँ #

हमें अक्सर ऐसा लगता है कि खुश रहने के लिए कुछ ख़ास परिस्थितियाँ होनी चाहिए | हमारी मनचाही परिस्थितियों और  मौजूदा परिस्थितियों के बीच  का अंतर ही यह तय करता है कि हम खुश है या दुखी | यह बहुत… Read More ›

# चुपके – चुपके #

प्यार एक एहसास है । जो दिमाग से नहीं दिल से होता है | प्यार में  अनेक भावनाओं और विचारो का समावेश होता है !, प्रेम हमें  स्नेह से लेकर खुशी की ओर धीरे – धीरे अग्रसर करता है । ये… Read More ›

# सुकून की तलाश #

दोस्तों, हर इंसान इस भाग – दौड़ भरी ज़िन्दगी में सुकून के पल चाहता है | पल दो पल के सुकून के लिए  कहाँ – कहाँ भटकता रहता है, तभी एक दिन उसे एहसास होता है कि जिस सुकून को… Read More ›

# जिद करना ज़रूरी है #..

दोस्तों , यह सही कहा गया है कि अगर सिद्दत से किसी काम को किया जाए तो सफलता  मिलना लगभग तय  है | लेकिन उस काम के प्रति  दिल में जुनून होना चाहिए | या यूँ कहे कि उस काम… Read More ›

# जीवन का ज़श्न #

अब वक्त आ गया है  कि हम दूसरों को अपनी नाकामी के लिए दोषी ठहराना बंद कर दें |  आखिर हम वैसा जीवन क्यों नहीं जी पा रहे जैसा हम  चाहते हैं। ऐ मेरे दिल, आज से ही अपनी पूरी… Read More ›

# मेरी अच्छी दोस्त #

अब मैं ने तय किया है कि आत्मा को स्वच्छ रखना है | हमारे अन्दर जो वर्षों से गन्दगी  जमी हुई है उसे हटाना है, क्योंकि आत्मा में परमात्मा का अंश रहता है । कभी – कभी  हम अपनी भावनाओं… Read More ›

# मैं ज़वान हो रहा हूँ #

आज सुबह – सुबह पार्क में टहलते हुए मुखिया जी मिल गए |  वे किसी गाँव के मुखिया नहीं है बल्कि उनका नाम ही  मुखिया जी है और वे मेरे अच्छे मित्र है | वे मुझे देखते ही बोले.. क्या… Read More ›

# यूँ ही इंतज़ार करते है #

बुढ़ापे की ज़िन्दगी कैसी हो ? , यह जानने के लिए बुढ़ापे को जीना ज़रूरी है | चाहे ज़िन्दगी में कितनी ही रुकावटें आयें, तकलीफें आए उसका डट कर मुकाबला करना है | क्योकि हमें अपनी ज़िन्दगी के प्यार करना… Read More ›

मेरा बचपन…मेरा गाँव

आज इस तस्वीर को देख कर अपने गाँव की याद आ गई | गाँव में बिताये गए बचपन के दिन कोई नहीं भूलता | आज के भाग दौड़ बड़ी ज़िन्दगी में सुकून के पल ढूंढता …मेरा मन आज गाँव की… Read More ›

तेरी कुछ यादें..

लोग कहते है कि  मन की किताब पढना आसान नहीं है | सही है… ज़िन्दगी कोई किताब नहीं है ज़नाब कि जो चाहे… जब चाहे… इसके पन्ने पलटे  और इसे पढ़ ले | ज़िन्दगी के कुछ पल और कुछ एहसास… Read More ›