Author Archives

I am Vijay Kumar Verma, residing in Kolkata, the city of joy. I was a Banker since December 1985 and retired in April 2017 from State Bank of India. After serving the Bank for 32 years as an officer holding different assignments from time to time, now I am currently enjoying the retired life. I would like to fulfil the duty of social service through this platform spreading aware about the health related problems and their remedies. I will also try to entertain my followers through knowledgeable information and motivate them to enjoy better and quality lifestyle. It is my endeavour to keep the post friendly and as informative as I can.

I am willing to connect with my friends and followers, through my stories and drawings out of my passion to write and make sketches.

I would like to create a trusted and joyful friend circle, and share tales from the past

  • स्वस्थ रहना ज़रूरी है …1

     स्वस्थ रहना कौन नहीं चाहता है , लेकिन शरीर पर जितना ध्यान देना चाहिए और ज़रूरी उपाय करना चाहिए वो हम नहीं करते और कई रोगों के शिकार हो जाते है | अगर हम थोड़ी सावधानियां बरते और कुछ उपाय… Read More ›

  • एहसास

    आज कल के हालत ऐसे हो गए है कि सभी को कोई ना कोई तकलीफ़ हैं अपनी ज़िंदगी में । कोई बहुत अच्छी,  बिना तकलीफ़ वाली लाइफ नहीं जी सकता । यह सच है कि  अगर आप अपना ध्यान हमेशा… Read More ›

  • # Keep your cool #

    It is true that Sometimes unpleasant happens,.. One day an incidence occurred in my life also .I will never forget the same all my life. Yes, I  still remember the incidence that took place  in my life. In the year 2014,… Read More ›

  • # लम्हा लम्हा #

    ज़िन्दगी को खुल कर जीना ,जब तक मौत गले ना लगे ले /,भूल जाओ अपने दुःख दर्द को जो लोगों ने दिए है,माफ़ कर दो उन्हें / कहाँ जाना है इस  ईगो और घमंड को लेकर …जीवन में वक़्त बहुत… Read More ›

  • # अच्छी स्वास्थ का राज़ #

    यह सच है दोस्तों, यहाँ हर कोई स्वस्थ  रहना चाहता है,  युवा दिखना चाहता है, और ख़ूबसूरत भी | और  हम युवा रहने के लिए बहुत सारे उपाय ढूंढते रहते है | चाहे वो खाने का  सामान  हो या स्किन… Read More ›

  • हाय ज़िन्दगी

    ज़िन्दगी क्या है यह जानने के लिए जिंदा रहना जरूरी है। चाहे ज़िन्दगी में कितनी ही रुकावटें आए, तकलीफ़ें आए उसका डट कर मुकाबला करना चाहिए। हमे अपनी ज़िन्दगी से प्यार करना चाहिये। लेकिन कभी कभी ऐसा लगता है कि… Read More ›

  • # नोंक-झोंक #

    .मैं ने यह कहानी पढ़ा तो दिल को छू गया। मैँ ने महसूस किया कि इसे कहानी क्यों कहा जाए, यह हकीकत क्यों नही हो सकता..| हम समझते है कि बुढापा एक अभिशाप है, अगर ऐसी बुढापा हो तो ज़िन्दगी… Read More ›

  • # Fundamental of Life #

    Life is beautiful and its meaning differ from man to man. I think it depends on state of our mind in the present situation. Sometimes life seems boring and difficult but on some other day some changes and looks beautiful… Read More ›

  • आत्म-मंथन

    जब दिल बीमार हो जाता है, तब डॉक्टर उस दिल का ऑपरेशन करता है और वो दिल की सारी गन्दगी को बाहर निकाल कर उसे फिर से निर्मल और पावन कर उसे धड़कने लायक बना देता है / क्या कुछ… Read More ›

  • Living with Loneliness..???

    Feelings of loneliness and isolation affect all ages of people, although some, like adolescents (individual between 10 to 24 yrs. of age), are more likely to have more impact than others. The elderly are also at high risk. Research show… Read More ›