story

#मेहनत का फल#

कोलकाता का एक शानदार होटल, जिसमे ब्रांच मेनेजर लोगों की मीटिंग चल रही थी | मैं भी ब्रांच मेनेजर के रूप में शरीक था | लंच का समय हमलोग अपने बॉस के साथ लंच ले रहे थे | बॉस का… Read More ›

#लोकल ट्रेन में एक बार#

हेलो फ्रेंड्स, मैंने अपने बैंकिंग सफ़र में सबसे लम्बा समय कोलकाता में बिताये है | यहाँ चार शाखाओं में अलग अलग समय पर कार्य करते हुए करीब 11 साल व्यतीत किये है | यहाँ रहने के दौरान बहुत से खट्टे-… Read More ›

# एक कहानी सुनो# -8

अकबर और बीरबल की कहानी एक बार सम्राट अकबर ने बीरबल से पूछा – बीरबल, क्या तुम बता सकते हो, अविद्या क्या है ? बीरबल अचानक इस प्रश्न को सुन कर सोच में पड़ गए  और फिर कुछ सोच कर… Read More ›

#बस, मैं मुस्कुरा देता हूँ#

दोस्तों 26 जनवरी को हर वर्ष हमारे देश में गणतंत्र दिवस के रूप में मनाया जाता है | आज 26 जनवरी है और  पूरा देश 73वां  गणतंत्र दिवस मना रहा है | 26 जनवरी 1950 के दिन पहली बार हमारे देश… Read More ›

#बचपन का ज़माना था#

बचपन का भी क्या ज़माना था | बचपन के अनुभव हमें आज भी याद आते है और दिल बरबस ही सोचता है कि क्यों हम बड़े हो गए ? लेकिन ज़िन्दगी तो है एक समय की धारा | हम सब… Read More ›

#मसाला डोसा फ्री में#

दोस्तों, ज़िन्दगी में बहुत सारे लम्हे ऐसे होते है जो बाद में भी हमें याद आते है | खास कर कॉलेज के दिनों के बिताये उन हसीन लम्हों को याद कर आज भी अपने आप को तरो ताज़ा कर लेता… Read More ›

# मेरा सुसाइड नोट #

कभी कभी मन में ख्याल आता है कि जब मनुष्य का अंतिम समय आता है तो वह क्या सोचता होगा ?  वैसे मैंने सुना है कि मृत्यु सैया पर पड़ा इंसान जब अपने मौत का इंतज़ार करता है उसे पता… Read More ›

#कोलकाता की एक शाम#

       दोस्तों, मैं कोलकाता शहर में पिछले 15 साल से रह रहा हूँ | कोलकाता को सिटी ऑफ़ जॉय भी कहते है।  मैं नए साल को कोलकाता में बहुत धूम – धाम से मनाता था | सबसे अच्छी बात मुझे… Read More ›

# सफ़र लोकल ट्रेन का #

 हेलो फ्रेंड्स, मुझे कोलकाता में रहते हुए करीब 15 साल हो चुके है  और यहाँ की बहुत सारी यादें मुझसे जुडी हुई है | कुछ ऐसी घटनाये भी यादों में बसी है कि उसे याद करते ही चेहरे पर बरबस… Read More ›

#कोलकाता मेरी जान#

बात उन दिनों की है जब मुझे पहली बार कोलकाता में पोस्टिंग  मिली थी | साल २००४ में मैं कोलकाता के एक शाखा में ज्वाइन किया था | मुझे मेट्रो शहर में रहने का कोई अनुभव नहीं था, इसलिए मैं… Read More ›