story

जिंदगी इम्तिहान लेती है -2

दूसरे दिन एक अनजान  आदमी मुझे लेने आया | वह मेरे बाप का दोस्त था शायद |  मैंने  पहले कभी उसे नहीं देखा था | मैं पिता से मिलने की सोच कर बहुत खुश थी और घर में किसी को… Read More ›

जिंदगी इम्तिहान लेती है -1

आज सुबह मॉर्निंग वॉक के बाद मन बहुत प्रसन्न था, क्योंकि आज बहुत दिनों के बाद एक पुराने साथी से मुलाक़ात हुई थी | मैं उन्हीं के बारे सोचते हुए  घर में घुसा और सामने टेबुल पर पड़े आज का… Read More ›

इस हत्या का दोषी कौन ? – 2

एक बार तो पुलिस को विश्वास ही नहीं हुआ कि 16 साल का मासूम लड़का अपनी माँ की हत्या  कर सकता है | माँ का कसूर बस इतना था कि वह अपने बच्चे को मोबाइल पर गेम खेलने से मना… Read More ›

# वो काली रात #

आज मेरे शादी की ३९ वाँ सालगिरह है | मैंने  रात में ही आज के दिन भर का कार्यक्रम बना लिया था | सुबह – सुबह  हम दोनों को मंदिर जाना था ताकि भगवान् को एक बार फिर से धन्यवाद… Read More ›

# सुबह-सुबह की सैर में #

दोस्तों, आज की सुबह मेरे लिए खास था | सुबह हो चुकी थी लेकिन मैं देर तक सो रहा था क्योंकि रात मे देर से बिस्तर पर गया था | अचानक हमारे कमरे की खिड़की पर बहुत सारे कबूतर आ… Read More ›

एक ऐसा मर्डर मिस्ट्री -2  

यह सही है कि मर्डर का कोई पुख्ता सुराग अब तक नहीं मिल पाया था । लेकिन वारदात के समय नैंसी की गाड़ी वहाँ थी तो पुलिस को संदेह होना लाज़मी था | उन्होने नैन्सी से इस बारे में पूछ… Read More ›

एक ऐसा मर्डर मिस्ट्री -1    

    आज कल यह देखा गया है कि बहुत सारे ऐसे क्राइम होते है जिसका क्राइम करने का तरीका  फिल्मों, कहानियों या सोशल  मीडिया पर बताई गई जानकारी से प्रेरित होता है | मेरे मन में भी एक सवाल उभर… Read More ›

मैंने देखा एक सपना

हम सब लोग सपने देखते है और सपने में अजीब अजीब चीज़ देख लेते है | इसका कारण कुछ ठीक – ठीक पता नहीं चलता है | कुछ लोग कहते है  कि सपनो में हम अपूर्ण इच्छाओं को पूर्ण होते… Read More ›

# शत शत नमन माँ #

आज 21 मई  है, मेरी माता जी की पुण्यतिथि। आज से 13  साल पहले, आज ही के दिन मेरी माँ हम सबों की छोड़ कर स्वर्गवासी हो गई   |  आज अपने स्वर्गवासी माँ को मैं अपने और सभी परिवार वालो… Read More ›

मर्डर की अजीब दास्तान -3

 आश्रम में तांत्रिक दीपिका और उसके बेटे के साथ मिल कर बिना किसी परेशानी के लाश को पूरी तरह जला देते है | फिर देर रात तक राख को ठंडी होने का इंतज़ार करते है | लेकिन वे लोग किसी… Read More ›