मेरे संस्मरण

#कोलकाता की एक शाम#

       दोस्तों, मैं कोलकाता शहर में पिछले 15 साल से रह रहा हूँ | कोलकाता को सिटी ऑफ़ जॉय भी कहते है।  मैं नए साल को कोलकाता में बहुत धूम – धाम से मनाता था | सबसे अच्छी बात मुझे… Read More ›

# सफ़र लोकल ट्रेन का #

 हेलो फ्रेंड्स, मुझे कोलकाता में रहते हुए करीब 15 साल हो चुके है  और यहाँ की बहुत सारी यादें मुझसे जुडी हुई है | कुछ ऐसी घटनाये भी यादों में बसी है कि उसे याद करते ही चेहरे पर बरबस… Read More ›

#कोलकाता मेरी जान#

बात उन दिनों की है जब मुझे पहली बार कोलकाता में पोस्टिंग  मिली थी | साल २००४ में मैं कोलकाता के एक शाखा में ज्वाइन किया था | मुझे मेट्रो शहर में रहने का कोई अनुभव नहीं था, इसलिए मैं… Read More ›

# मास्टर जी के डंडे #

दोस्तों, आज सुबह कुछ देर से उठा था, कल पार्टी के जश्न में देर से सो पाया था | मैं सुबह के कार्यक्रम से निवृत होकर  लैपटॉप पर अपने मेल चेक कर रहा था तभी मेरी नन्ही पोती बोली …… Read More ›

#विक्टोरिया मेमोरियल की यादें#

कोलकाता का विक्टोरिया मेमोरियल आज चार साल के बाद फिर देखने का मौका मिला | यह एक दर्शानिये स्थान है और पिछले 12 सालों से कोलकाता में रहते हुए बहुत बार यहाँ  घुमने का मौका मिला | यह कोरोना के… Read More ›

#अंधविश्वास ऐसा होता है #

आज के वैज्ञानिक युग में सदियों  से चला आ रहा अन्धविश्वास आज भी उतना ही मजबूती से खड़ा है जितना की पहले था | हम समय – समय पर इस तरह की बातें सुनते और देखते आ रहे है |… Read More ›

भागते भुत की लंगोटी ही सही

कभी कभी कुछ ऐसी मूर्खतापूर्ण  घटना घट जाती है कि जब भी वो घटना याद आती है, तो अफ़सोस से ज्यादा अपनी मुर्खता पर हँसी आती है | मैं बैंकर हूँ, और ऐसा माना जाता है कि बैंकर पैसा घर… Read More ›

# 786 का जूनून #

दोस्तों, यह सच है कि कहानियों को पढने से या फिल्मों में देखने से कुछ घटनाएँ कभी कभी  हमारे दिमाग पर गहरा छाप छोड़ देते है | खास कर मेरे चहेते कलाकार के द्वारा फ़िल्मी परदे पर निभाए किरदार को… Read More ›

# कहानी एक कमीज़ की #

यह बात है 1991-92 की, जब हमारे बैंक में कम्प्यूटराइजेशन (computerization) हो रहा था | मुझे कंप्यूटर के बारे में ज्यादा अनुभव नहीं था | इसलिए मेरे अलावा कुछ और स्टाफ इसे लेकर  काफी परेशान थे | हमारे मन में… Read More ›

# यादों के झरोखें से #

दोस्तों , कभी कभी हम अकेले में होते है तो  अपने अतीत में खो जाते है और फिर बीती कुछ घटनाएँ याद आने लगती है, जिसे याद कर  चेहरे पर एक मुस्कान बिखर जाती है | मेरा प्रयास है कि… Read More ›