मेरे संस्मरण

मेरी कुछ यादें

माना मैं तुम्हारे नए शहर की पुरानी इमारत ही सही, लोग आज भी मुझमे अपना बीता हुआ कल ढूंढते है | रांची को हमने खूब जिया है |  तब हम खगौल (पटना) से नए नए रांची आये थे | स्कूल… Read More ›

# Blogging My Passion #..

Friends, Every day, I wake up in the morning, and follow the positive affirmation before going to morning walk. Today’s affirmation is … “I welcome the wisdom that comes with growing older.” After doing Yoga in the park, I   practice… Read More ›

# मुझे भी प्यार है #…16

Originally posted on Retiredकलम:
source: Google.com ? किसी ने सच कहा है,  दोस्ती और  मुहब्बत उससे करो जो निभाना जानते हो | नफरत उनसे करो जो भुलाना जानते हो ओर गुस्सा उससे करो जो मनाना जानते हो | अच्छे दोस्त…

एक अकेला इस शहर में….6

Originally posted on Retiredकलम:
ज़रूरी नहीं कि हर समय जुवान पे, भगवान का नाम याद आए,  वो लम्हा भी भक्ति का ही होता है जब, इंसान -इंसान के काम आए अजीब रिश्ता है मेरा ऊपर वाले के साथ, जब भी…

# कहाँ गए वो दिन #….5

Originally posted on Retiredकलम:
हँसकर जीना दस्तूर है ज़िन्दगी का एक ही किस्सा मशहूर है ज़िन्दगी का बीते हुए पल कभी लौट कर नहीं आते यही सबसे बड़ा कसूर है ज़िन्दगी का रोने का टाइम कहाँ ..सिर्फ मुस्कुराओ यारों, क्योंकि,…

# देखना मना है #…4

Originally posted on Retiredकलम:
आज की सुबह अनकही अनजानी सी कहानी कह गई | मेरी किस्मत न जाने अब कौन सी कहानी लिख गई | आज की सुबह ने मुझे महसूस कराया कि.. मैं कौन हूँ ?और ?क्या हूँ.. मेरे…

# खुशियों के आँसू #..3

Originally posted on Retiredकलम:
कल का blog publish  करने के बाद बहुत दोस्तों के message आने लगे, एक ने तो लिखा कि मेरी संघर्ष पूर्ण जीवन यात्रा की बेहतर प्रस्तुति थी | कैसे कैसे परिस्थितियों का सामना किया था मैंने…

# हँसना मना है #..2

Originally posted on Retiredकलम:
आज सारी रात परेशानी में गुजर रही थी,| दिन की घटना के बाद हमलोग चारों दोस्त मेरे घर पर ही रुक गए | रात  भर प्लानिंग (planning) चलती रही | …मकान मालिक का एजेंट (agent) जो…

चोरी – चोरी …1

Originally posted on Retiredकलम:
फ़ोन की घंटी बजी, हेल्लो वर्मा सर, आप ने मुझे पहचाना ? आज एक पुराने मित्र ने फोन ?किया ..मैं राजेश बोल रहा हूँ .. हम शिवगंज (राजस्थान) में साथ थे | मैं वहाँ बिजली विभाग…