मेरे संस्मरण

# हर ब्लॉग कुछ कहता है #..18

समय कटता नहीं शिकायत है सभी की, समय कटता नहीं .. कोशिश तो करते है , समय बटता नहीं आदमी दोहरी बातें करने का आदि है , दोस्तों से कहता है , समय मिलता नहीं .||. दोस्तों.. कभी कभी ज़िन्दगी… Read More ›

# टाइम नहीं है #…

हजारों …उलझने राहों में  और कोशिशें बेहिसाब …. इसी का नाम है …ज़िन्दगी , चलते रहिये ज़नाब ….. आज कल की व्यावसायिक ज़िन्दगी (Professional Life) हमारे ज़माने से कुछ भिन्न नज़र आता है | हमारे ज़माने में वर्क फ्रॉम होम… Read More ›

# हर ब्लॉग कुछ कहता है #..17

एक कबूतर भोर के उजास के साथ ही मेरी नींद खुली तो देखा कि हमारे खिड़की पर बहुत सारे कबूतर आकर शोर मचा रहे है, मानो कह रहे हो कि उठो सवेरा हो  गया है | दरअसल,  मैं रोज सुबह… Read More ›

# I Am Grateful For….#

When things are happening according to our wish. We feel happy and praise God for his grace. On the other hand, we feel despondency and despair when things are happening against our will and in that situation also, we request… Read More ›

# श्रद्धांजली के फूल #

 दोस्तों, आज का ब्लॉग लिखते हुए बहुत दुःख  का अनुभव हो रहा है | कुछ दिनों से लगातार लगभग हर दिन  मेरे सगे सम्बन्धी और मेरे बैंक के साथी कोरोना से संघर्ष करते हुए अलविदा कह रहे है | जैसे… Read More ›

# मैं आवारा हूँ #

Originally posted on Retiredकलम:
मेरी नई नई बैंक की नौकरी थी | मेरी पहली पोस्टिंग “रेवदर” शाखा में और अभी छह माह भी नहीं हुए थे कि मेरा पुनः ट्रान्सफर “शिवगंज” शाखा  में कर दिया गया | कुछ दिनों पूर्व…

# Yes , I am Changing #

Originally posted on Retiredकलम:
Dear? friends I have started   Blogging in the name of “RETIREDKALAM” : A collection of material which  will be useful as well as Informative and entertaining , I will try to post some of the latest…

# जगन्नाथपुरी के भगवान् #

दोस्तों, आज मैं भगवान्  जगन्नाथ और उनसे जुडी कुछ यादों पर चर्चा करना चाहता हूँ | बात उन दिनों की है जब मैं एग्रीकल्चर कॉलेज में  पढता था | हमलोगों को  एजुकेशनल टूर के तहत नार्थ इंडिया घुमने का का… Read More ›

हर ब्लॉग कुछ कहता है ..15

फुटपाथ की ज़िन्दगी   दोस्तों, आज सुबह  मैं नास्ता  वगैरह से निवृत होकर ब्लॉग लिखने बैठा था | पहले मैं अपने मोबाइल पर आये हुए मेल चेक करता हूँ और कुछ समय सोशल मीडिया पर  व्यतीत करता  हूँ | आज… Read More ›

In the Realm of Memories

Today, after a long time, I was flipping through the pages of my old dairy, the memories of Vizag visit were refreshed after reading the details of visit in my diary..Yes, I was just refreshing old memories by looking at… Read More ›