सागर किनारे एक शाम

कभी कभी हमारे जीवन में ऐसे पल भी आते है जब हम टुकडो में जी रहे होते है, दिशाहीन और बिना लक्ष्य की  ज़िन्दगी | ऐसा लगता है कि खुद के ऊपर कोई नियंत्रण ही नहीं है | हमारे अन्दर नकारात्मक विचारों का समावेश हो चूका है | जिसे कभी हम बहुत प्यार करते थेContinue reading “सागर किनारे एक शाम”

प्यारी दोस्त गौरैया..

  दोस्तों कुछ दिनों पूर्व यानी २० मार्च को दुनिया भर में  विश्व गौरैया दिवस (World Sparrow Day) मनाया गया | इसका मुख्य उद्देश्य गौरैया  पक्षी के बारे में लोगों में जागरूकता बढ़ाना और उसके संरक्षण के लिए ज़रूरी उपाय करना है |   दोस्तों यह देखा जा रहा है कि गौरैयों की संख्या  दिनोंContinue reading “प्यारी दोस्त गौरैया..”

An evening in Bark street

Friends This is a fact that sometimes we experience moments of joy in our life which become memorable. Yes, I got an opportunity to visit Delhi a month before and acquainted myself with  such a beautiful experience. I was just wandering with my son to look for unique place to visit there. I was firstContinue reading “An evening in Bark street”

मैं कलम हूँ

रास्ते है तो ख्वाब है , ख्वाब है तो मंजिले है मंजिलें है तो फासले है फासले है तो हौसले है हौसले है तो विश्वास है  मैं कुछ लिखने के लिए अपने कलम  को ढूंढ रहा था, तभी मेरे डायरी के पन्नो के बीच  उससे मुलाकात हो गई .. कलम मुझे देख कर सकुचाई तोContinue reading “मैं कलम हूँ”

हँसना क्यों ज़रूरी है ??

कुछ दिनों पूर्व मुझे दिल्ली जाने का सौभाग्य प्राप्त हुआ | वैसे भी pandemic के कारण  काफी दिनों से डर डर  कर जी रहे थे | अब जब वैक्सीन मार्किट में आ गया है तो मुझे  भी हिम्मत हुई और मैंने कोलकाता से दिल्ली जाने का कार्यक्रम बना डाला | दिल्ली जाने के क्रम मेंContinue reading “हँसना क्यों ज़रूरी है ??”

सकारात्मक विचार…9

गरीबों की सुनो दोस्तों , मैं आशा करता हूँ कि आप सभी अपने अपने कामों में व्यस्त रहते हुए भी ज़िन्दगी का लुफ्त उठा रहे होंगे | आज मैं आप सबों को शहर से दूर एक गाँव में ले चलता हूँ जहाँ रेलवे ट्रैक के किनारे बने हुए झुग्गी झोपड़ियों में रहने को विवश लोगContinue reading “सकारात्मक विचार…9”

हर ब्लॉग कुछ कहता है …13

मैं और मेरा ब्लॉग आज मोर्निंग वाक से फ्री होकर जब मैं ब्लॉग लिखने बैठा तो मेरे एक हाथ में चाय थी और दुसरे हाथ में अखबार | मैं आज के अखबार पर सरसरी नज़र डाल ही रहा था कि उसके एक शीर्षक के ऊपर मेरी नज़र अटक गई | हम बीते साल के अंतिमContinue reading “हर ब्लॉग कुछ कहता है …13”

मेरी श्रद्धांजलि

और दिनों की तरह आज भी जब मैं  मोर्निंग वाक से वापस आया तो मन बिलकुल तरो ताज़ा था क्योकि मोर्निंग वाक के दौरान मैं कुछ spiritual बातें मोबाइल के द्वारा सुनता रहता हूँ | जिसको सुन कर मन शांत हो जाता है और ख़ुशी की अनुभूति होती है | घर आकर अपने रीडिंग टेबलContinue reading “मेरी श्रद्धांजलि”