# ज़िंदगी हंस कर जीना है #

हँसकर जीना दस्तूर है ज़िंदगी का,

एक यही किस्सा मशहूर है ज़िंदगी का,

बीते हुए पल कभी लौट कर नहीं आते,

यही सबसे बड़ा कसूर है ज़िंदगी का।

दोस्तों,

आज के दौर में लाखों लोग तनाव और चिंता के कारण कई बीमारियों से जूझ रहे हैं। आज कल यह एक आम समस्या हो गई है | लेकिन लंबे वक्त तक यह समस्या रहे तो बहुत घातक परिणाम देखने को मिलते है |

इसलिए ज़रूरी है कि ऐसी स्थिति से बचा जाए | खुश रहना ही मात्र एक विकल्प है | उसके लिए बहुत सारी आसान टिप्स है जिसे आजमा कर समस्या से निजात पा सकते है । मैंने   भी अपनी दिनचर्या में हँसना और हँसाना शामिल किया है | तो आइये शुरुआत  करते है |

नियमित व्यायाम करना चाहिए

खुश रहने के लिए ज़रूरी है कि हम स्वस्थ रहें | इसके लिए  व्यायाम सबसे महत्वपूर्ण है | नियमित व्यायाम करने से हमारा  दुख और तनाव नियंत्रण में रहता है | इसके अलावा  व्यायाम के माध्यम से अपने शरीर पर शारीरिक दबाब पड़ने से मानसिक तनाव भी दूर हो सकता है । सच, व्यायाम हमारे  मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य को ठीक कर तनाव और चिंता दूर करने में बहुत कारगर है |

अपने आहार विहार को संतुलित करना चाहिए  

हमें खुद का ध्यान रखना  ज़रूरी है | अपने खान पान से लेकर घूमने फिरने के लिए पर्याप्त समय निकालना चाहिए | खास कर  वरिष्ठ नागरिक (Senior Citizen ) के लिए तो विशेष कर  पौष्टिक खाना चाहिए और  खाते समय खाना को  अच्छी तरह चबा कर खाना  और भोजन का पूरा आनंद  लेना चाहिए |

मैं सुबह मॉर्निंग वॉक के समय थोड़ी देर के लिए ध्यान लगा कर बैठता हूँ ताकि अपनी भावनाओं को नियंत्रित कर सकूँ | मैं  टहलते समय अपने पसंदीदा गाने सुनता हूँ , चुट्कुले  भी सुनता हूँ ।

खाली समय में अपने कला कौशल को निखारे

मुझे पेंटिंग करना अच्छा लगता है | इसलिए अपने खाली समय का सदुपयोग पेंटिंग बनाने और दूसरे आर्ट वर्क में  करता हूँ | इस तरह अपने  कला कौशल को खाली समय मिलने पर निखारने की कोशिश करता हूँ ।

वैसे, कुछ लोग काफी क्रिएटिव होते हैं लेकिन देखा गया है कि वे अपना पूरा वक्त टेंशन और फिजूल की बातों में जाया कर देते है | बेहतर होगा कि हम खुद को अपने पसंदीदा काम में व्यस्त रखें। जितना अधिक कुशलता से हम अपने शौक के काम और परिवार की जरूरतों पर ध्यान रखेंगे उतना हमारा तनाव का स्तर कम होगा।

तनाव लेकर क्यों जीना है ?

जब भी आप किसी कारणवश तनाव में होते हैं तो उस समय  में शांति से सोचना चाहिए और समाधान का रास्ता ढूँढना चाहिए । तनाव पूर्ण स्थितियों को आने नहीं देना चाहिए |  घर के सदस्यों को लेकर कभी कभी टेंशन हो जाती है | ऐसे में परिवार के सदस्यों को मिल जुल कर समस्या- का समाधान निकालना चाहिए |

कॉमेडी फिल्म या टीवी सीरियल देखें: 

अपने को खुश रखने के लिए कॉमेडी फिल्म को देखना अच्छा विकल्प है | हमें ऐसी चीज़ें को ढूँढना चाहिए जो हमें  हंसाती हैं |

हम जाने-माने कॉमेडी सीरियल जैसे कपिल शर्मा शो, तारेक मेहता का उल्टा चश्मा, इत्यादि का मजा लें सकते है  और खुल कर हँसे | हंसने के लिए कॉमेडी फिल्मों की कोई कमी नहीं हैं  | इसलिए अपनी  हंसी को महंगा न होने दें, और इसे खुल कर खर्च करें |

अपने बढ़े उम्र को आड़े ना आने दें –

खुल कर जियो ज़िंदगी , जब तक मौत गले न लगा ले | उम्र  तो बस एक नंबर है, मन को जवान रहना चाहिए | अपने शौक पर ध्यान दें ,  कैनवस पर अपने पसंद के रंग बिखेर दें | चाहे gardening करें या मस्त डांस करें |

बस, मस्त जीवन जीने की कोशिश होनी चाहिए | हाथ में कुछ बढ़िया खाने पीने का लेकर अपने बचपन को ज़रा फिर से जीएं | 

खुशमिज़ाज़ लोगों के साथ रहें

कोशिश करें कि खुशमिजाज लोगों के आस-पास रहें | एक बार सोचें कि आपने अपने दफ्तर में साथ काम करने वाले दोस्तों के साथ खुशी के पल बिताने के लिए प्रोग्राम बनाया और किसी रेस्टुरेंट में बैठे हों | वहाँ पर आपके दोस्त अपने काम के प्रेशर (pressure), टेंशन (tension) और शिकायतों का पिटारा खोल कर बैठ जाये  तो आप और भी बुरा महसूस करते हैं | और हंसना तो जैसे उड़न-छू हो जाता है |

अगर आप नकारात्मक सोच रखने वालों के साथ समय व्यतीत करेंगे तो आप की हंसी आप से  दूर हो जाएगी | इसलिए खुशमिजाज लोगों के साथ  घुल-मिल कर रहें जो आपको हंसाते हैं और आप उनकी कंपनी (company) में खुश रहते हैं |

हंसने की एक्टिंग करें

जैसे आप किसी मंत्र का जाप करते हैं ठीक उसी तरह हंसी को लाने की शुरुवात करें —  हा-हा-हा (3 बार) के मंत्र से | बार-बार इसी प्रक्रिया का दोहराएं | ताकि वो बनावटी हंसी एक वास्तविक हंसी में बदल जाएं |

अपने आपके साथ बीती किसी ऐसी बात को याद करें जिसे सोचकर आपको आज भी हंसी आ जाती है | और उसी बात को अपने लाफिंग सैशन (laughing session) में याद करें और हंसी को अपनी ज़िन्दगी में आने को मजबूर कर दें |

नए दोस्त बनाएँ

अब ऐसा भी नहीं हैं कि आपको अपने नाखुश दोस्तों को छोड़ देना हैं | पर नए दोस्तों को बनाने की कोशिश करें जिनके साथ आप खुल के हँसते हैं और जिन्हे हंसना अच्छा लगता हैं | जब आप ऐसे लोगों के करीब होते हैं तो सच माने आप हंसी के करीब होते है |

आप अपने दोस्तों को जोक्स (jokes) या मज़ाकिया वीडियो भी भेज सकते हैं | ये उन्हें हंसने की प्रेरणा देते हैं और वो लोग भी आपको वापिस और मज़ेदार चीज़े भेजते हैं |

अपने आप पर हँसे 

अपने ऊपर हंसने की कला ही एक खुशमिज़ाज़ इंसान और एक मायूस इंसान में फर्क बताती है | अगर आप अपनी कमियों, अपनी गलतियों और अपने कुछ अटपटे पलों को हंसी में उड़ाना जानते हो तो आप पर कभी भी किसी भी परेशानी का कोई असर नहीं होगा |

जब आप खुद पर हंसना जानते हो तो आप कभी दुखी नहीं रह सकते | हर इंसान की ज़िन्दगी में हादसें, घटनाएं और दुख आते है लेकिन अपने आपको कमजोर ना पड़ने दें | जब आप अपने ऊपर हॅसने की कला जानते हैं तो आप अपने आप को ही नहीं बल्कि अपने आस-पास के लोगों को भी ये बताते हो कि ये कठिन वक़्त गुज़र जायेगा |

पहले की ब्लॉग  हेतु  नीचे link पर click करे..

BE HAPPY….BE ACTIVE….BE FOCUSED….BE ALIVE…

If you enjoyed this post, please like, follow, share, and comments

Please follow the blog on social media … visit my website to click below.

www.retiredkalam.com



Categories: motivational

24 replies

  1. Yes, happy, active, alive! Very well said Sir. Have a nice day!

    Liked by 1 person

  2. Living life joyfully and happy is a art.

    Liked by 1 person

  3. Muze aaj AG na sahi matlab para chala. I like it ! 😂😂😂

    Liked by 1 person

  4. बहुत अच्छा। जानकारीयुक्त।

    Liked by 1 person

  5. Aap ka blog me likha hua hare baat sahi hai.Blog me bahut sundar photo hai lagata aap har kaam Apne ko khus rakhane ke liye kiye hai.padh kar accha laga.

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: