# चलो मुसकुराते हैं #

If you want a different result,
do something different ..

Retiredकलम

दोस्तों

इंसान सिर्फ जीवन के एक पहलू को देखता है और महत्व देता है | इंसान सिर्फ सुख चाहता है लेकिन दुःख के लिए तैयार नही रहता है | जीवन रुपी सिक्के के दुःख और सुख दो पहलू है | अगर जीवन में एक आएगा तो निश्चित ही दूसरा भी आएगा |

उसी तरह इंसान अपने जीवन में बिताये गए सुख और दुःख के पलों को संजोये रखता है और ज्यादातर हम दुःख के पलों को याद कर नकारत्मक विचारों से भरे रहते है जबकि ख़ुशी के पल वो बहुत ज़ल्दी भूल जाते है |

लेकिन हमें हर हाल में खुश रहने की कोशिश करनी चाहिए | सकारात्मक सोच के साथ हम अपने जीवन को सुखमय बना सकते है |

ज़िन्दगी के छोटी छोटी खुशियों का जश्न मनाते है , चलो आज हम मुसकुराते है

लोगों के द्वारा दिये गए ज़ख़्मों को भुलाते है , चलो यार आज हम ठहाका…

View original post 74 more words



Categories: Uncategorized

10 replies

  1. That is a very true path that unfortunately too few people follow. Retirement is wonderful, no?

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: