# कुछ अपने बारे में #

अब मैं अपनी क्या तारीफ करूं, मुझे तो अलफ़ाज़ ही नहीं मिलते है | लेकिन मेरे दोस्त हमेशा कहते है कि मैं अपने बारे में भी लिखूँ  |

अतः अपने दोस्तों के निर्देश का पालन करते हुए आज मैं अपने बारे में कुछ लिखने का प्रयास कर रहा हूँ |

मैं विजय वर्मा, दो बच्चों का पिता हूँ, एक बीबी का पति हूँ और आप सब लोगों में से अधिकतर का दोस्त हूँ | किसी का दुश्मन भी हो सकता हूँ, लेकिन किसका, मुझे पता नहीं |

मैं बिहारी हूँ, थोडा जिद्दी हूँ, अगर कोई चीज़ मुझे एक नजर में पसंद आ गयी तो फिर समझो वो चीज़ मेरी l

मैंने Agriculture graduate हूँ , लेकिन सारी ज़िन्दगी बैंकिंग की है |  अब मैं SBI से रिटायर कर चूका हूँ और मैंने अपने पुराने शौक को फिर से जिंदा किया है | आज कल उन्हीं शौक का आनंद ले रह हूँ |  जी हाँ, मैं आज कल ब्लॉग लिख रहा हूँ और इसी माध्यम से आप सब दोस्तों से जुड़ा हुआ हूँ |

मैं थोडा जुवान का कड़वा हूँ और जो बोलना चाहता हूँ वह साफ – साफ और सीधे मुंह  पर बोलता हूं इसलिए लोग मुझे सनकी भी कहते हैं l मैं पीठ पीछे किसी की बुराई करना या सुनना पसंद नहीं करता हूँ |

मुझे नए – नए मित्र बनाना और नयी जगह घूमना अच्छा लगता है | इसलिए मैं देश –  विदेश का भ्रमण करता रहता हूँ | मैं स्वभाव से थोडा भावुक  भी हूँ और लोगों  के द्वारा दिये गए ताने और बोले गए मामूली झूठ भी मुझे भीतर तक आहत कर देती है। इसलिए मैं अपने काम के साथ समय बिताना ज्यादा पसंद करता  हूँ ।

मैं थोडा जुनूनी भी हूँ और अपने काम को  दीवानगी की हद तक प्यार करता  हूं । मैं  अपने लक्ष्य की प्राप्ति के लिए जी जान से लगा रहता हूँ |

मुझे TT खेलना , तैरना और बागवानी इत्यादि से खास लगाव है |

दोस्तों, मैं एक खुली किताब हूँ और हमारे बारे में लोग क्या कहते है उसे भी आप सबों से शेयर करना चाहता हूँ |  जी हाँ, इस  ब्लॉग में हमारे कुछ मित्रों ने मेरे बारे में लिखा है जिसे  यहाँ प्रस्तुत कर रहा हूँ  — 

B K VERMA

ये तो हमारे और दोस्तों के लिए संजीवनी का काम कर रही है |
रोज इतना अच्छा ब्लॉग पढ़कर दिन की अच्छी शुरुआत होती है | जब भी मन उदास होया है, आपके ब्लॉग की भींगी भींगी खुशबू मेरे दिलों दिमाग को ताज़ा कर देती है और फिर से रिफ्रेश हो जाता हूँ | बहुत ही काम लोग खुशनसीब होते हैं, जिन्हें सच्चा निःस्वार्थ प्रेम की अनुभूति होती है | ये तो प्रेम ही है जिसपर सारा संसार टिका हुआ है |
अगर आपस में प्रेम न हो तो जीवन नीरस हो जाता है | इसी प्रेम की डोर से परिवार, समाज, देश जुड़ा हुआ है|
रियली अच्छा लग रहा है. धीरे धीरे चलते रहो…. “

 

Sanjeev Lal 

  DECEMBER 6, 2020

You are making a very productive use of your retired life and doing all creative things, be it writing serial stories, memoirs, motivational blogs, poetry, sketching and drawing.

May you continue to progress in your creative pursuits and attract more readers to your blog posts.

Best wishes.

Kishori Raman

Banker (Canara Bank)

कहते हैं कि जब लेखन केवल अपने लिए हो या फिर केवल लिखने के लिए हो तो वह सार्थक नहीं होता | सार्थक तब होता है जब यह पढ़ने वाले को अपने से जोड़ सके, उन्हें मज़ा दे सके |

विजय जब लिखता है तो उसका उद्देश्य होता है अपने भोगे हुए यथार्थ को, जीवन की कड़वी सच्चाइयों को सरल एवं सपाट भाषा में पन्नों पर उतारना |यह अच्छे भी लगते हैं और गुदगुदाते भी हैं | नाटकियता इसकी जान होती हैं , जो आगे की घटनाओं को जानने की जिज्ञासा को अंत तक बरक़रार रखती हे | हर पढ़ने वाले को ये उसकी अपनी कहानी लगती है, और यही इसकी विशेषता भी है |

हालाँकि, संस्मरण लेखन में लेखक के पास लीक से ज्यादा हटने की गुंजाईश नहीं होती है क्योंकि तब निरसता उत्पन्न होने का खतरा रहता है | विजय की रचनायें इनसे बच कर निकलती हैं और तेज़ रफ़्तार से चलती हैं |
विजय की रचनायें इन कसौटियों पर खरी उतरती हैं | मेरी शुभ कामनाएँ |आप इसी तरह लिखते रहे और सबको गुदगुदाते रहे |”

कृष्णा कुमार 

       JUNE 16, 2020

“वाह विजय ,क्या खुब लिखते हो | पढने में बड़ा मज़ा आता है |

सरल भाषा ,सुंदर विषय वस्तु और नाटकीय घटनाक्रम रचना

को पठनीय बनाते है | जब हम पढना शुरू करते है तो बिना अंत के

उसे छोड़ नहीं पाते है और एक उत्सुकता अंत तक बनी रहती है

आगे की घटना को जानने के लिए | रचनाएँ आम जीवन के काफी

करीब महसूस होती है | उत्सुकता और इंतज़ार यही तो मज़ा है ज़िन्दगी में ,

जो रचनाएँ सहज ही उपलब्ध कराती है ….

आगे भी इसी तरह प्रयास ज़ारी रहे |

शुभकामनाओ सहित “

Sumit Sinha 

 JUNE 11, 2020

“While many may find it difficult, you have embraced this for long.

It is a pleasure to go through the thoughts;

the myriad experience flows through…”

 

Vijay Kumar Jha 

       SEPTEMBER 3, 2021

(1) You are a genius; I have no any doubt at all. Your Sankalp Sakti is beyond par. What you think you always want and try to achieve the goal .You are also an allrounder, sir .

You are a story writer, Poet , essay writer , health and wellness advisor and now your painting artistic has been revealed by you .

Your artistic paintings are very beautiful and having imagination of minute description. I salute you for your conviction and presenting a way to us to how to live life after retirement. Bravo.

(2) बहुत ही सुन्दर आलेख । जीओ और जीने दो के लिए जरुरी है हँसो और हँसाओ । बधाई ।

Shailesh Patel 

 DECEMBER 23, 2021

आपको धन्यवाद ब्लॉग सालगिराह पर, आपके विचार, आपके अनुभवों का निचोड हमें लगातार मीलते रहते है जो हमारे लिए बहुत प्रेरणादायक है। आप ईसी तरह लीखतें रहे और हम उसका आनंद लेते रहे यही अभिलाषा सह एक बार फिर से आपका धन्यवाद। .. Shail

Sanjeev Lal 
July 29, 2021

I must complement you for being so committed in writing blogs on daily basis without fail. Your blogs are informative and interesting and spreading positivity. More power to you for writing daily blogs.

Md. Kamran 
JULY 20, 2020

I liked your blog and read it to the last. I don’t find words to Express my joy and happiness,

but the way u have reinvented yourself is amazing. You are really an inspiration for every retired person. I too wonder why we the retirees think that our time is over.

Age is just a number. What others can do we too can. At last, I am to request u to please guide me to reinvent me as u have done.             

With warm Regards

दोस्तों द्वारा मेरे व्यक्तित्व और ब्लॉग के बारे में किया गया कमेंट, मुझे और अच्छा लिखने के लिए प्रेरित करते है | आपके कमेंट हमें अपनी कमियों को सुधारने का मौका भी देते है …

तो आप अपने कमेंट से कब अवगत करा रहे है …  आपके कमेंट का मुझे इंतज़ार रहेगा |

पहले की ब्लॉग  हेतु  नीचे link पर click करे..

https:||wp.me|pbyD2R-1uE

BE HAPPY….BE ACTIVE….BE FOCUSED….BE ALIVE…

If you enjoyed this post, please like, follow, share, and comments

Please follow the blog on social media … visit my website to click below.

www.retiredkalam.com



Categories: infotainment

13 replies

  1. Amazing and encouraging comments from your friends. It means a lot. Great share ✌️👏👏👏👏👏👍🎊

    Liked by 2 people

  2. Beautiful comments that you truly deserve !!

    Liked by 1 person

  3. You have much to be proud of. Keep up your passions and attitude to life.

    Liked by 1 person

  4. आप कि कहानी दिलचस्प है, आपके बारे में मेरे विचार को ब्लोग मे सामिल करने के लिए आभारी हूं, बहुत सारी शुभकामनाएं।

    Liked by 1 person

    • सर , आपलोग दिल से अभिव्यक्ति करते है /
      इसके लिए बहुत बहुत धन्यवाद | आपके सुबह संदेश
      का इंतज़ार रहता है |

      Like

  5. अनोखा प्रयास।

    Liked by 2 people

  6. Very nicely prepared the subject “Kuchh Apni barame “.Rightly said.The comments given by many readers of blogs are correct.

    Liked by 1 person

  7. Reblogged this on Retiredकलम and commented:

    words have the power to both destroy and heal .
    when words are both true and kind, they can change our world.

    Like

Leave a Reply to padmaja ramesh Cancel reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: