# खुदगर्ज इंसान #

तीर चुभने से भी ज्यादा दर्द होता है, जब कोई सबसे करीबी इंसान
चुभती बात कह देता है /

Retiredकलम

आप किसी से प्रेम करते है और आप उसे प्रपोज करने की सोच रहे है , तभी आपको महसूस होता है कि वह आपके लिए ऐसी ही फीलिंग्स नहीं रखता है | जब आपको पॉजिटिव रिस्पॉन्स नहीं मिलता है, तो प्यार जैसे इमोशन का नफरत में बदलना लाजमी है।

इसमें आपका उदास होना व उसके इनकार करने की वजह ना समझ पाना जैसी सिचुएशन आ जाती है।

ऐसी स्थिति में मन में तरह-तरह के विचार उठते रहते है | उन्हीं भावनाओं में विचरण करता यह कविता प्रस्तुत है |

खुदगर्ज इंसान

कितनाखुदगर्जहोगयाहै

वोमेरीबातभीनहींकरता

वादे भूल गया अब सारे

वोमुलाकातभीनहींकरता

नाराज़होगयाहै मुझसेशायद

वो कोईशिकायतभीनहींकरता

मैं ज़बाबक्यादूँउसे,

वोकोईसवाल ही नहींकरता….

पहले की ब्लॉग हेतु नीचे link पर click करे..

https:||wp.me|pbyD2R-1uE

BE HAPPY….BE ACTIVE….BE…

View original post 29 more words



Categories: Uncategorized

39 replies

  1. 👏👏👏👏✨🧚‍♂️

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: