#कभी कभी मेरे दिल मे #

Good evening friends

Retiredकलम

हमारा मन प्रेम की सुंदर भावनाओं को महसूस करता है | प्रेम एक ऐसा जाल होता है जिसे हम स्वयं कड़ी मेहनत करके बुनते है | लेकिन कभी कभी परिस्थितियाँ विपरीत भी हो जाती है, तब मन बेचैन हो जाता है |

कभी – कभी दिल भी बेवफा बन जाता है और कुछ भी चाहने लगता है | अपनी चाहत को बस में रखना संभव नहीं हो पाता है | चाहत तो भावनाओं के साथ हिचकोले खाते रहता है । वही भावनाएं कभी – कभी शब्दों का रूप ले लेती है और फिर सफ़ेद पन्नों पर कविता का आकार ले लेती है ॥

कभी – कभी मेरे दिल मे

ख्याल आता है , कि

मैं जीवन को पढ़ूँ ,

मैं जीवन को लिखूँ

मैं जीवन को समझूँ

और उसे महसूस करूँ |

कभी – कभी मेरे दिल मे

ख्याल आता है, क्यों ?

अपने बारे में लिखता हूँ

लोगों के…

View original post 208 more words



Categories: Uncategorized

5 replies

  1. Olá para você também ✨🧚‍♂️

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: