# तेरी कुछ यादें #

Strength is Life …Weakness is Death.

Retiredकलम

लोग कहते है कि मन की किताब पढना आसान नहीं है | सही है…

ज़िन्दगी कोई किताब नहीं है ज़नाब कि जो चाहे… जब चाहे… इसके पन्ने पलटे और इसे पढ़ ले | ज़िन्दगी के कुछ पल और कुछ एहसास ऐसे होते है जिसे आप बस महसूस कर सकते है, उसे कोई शब्द… कोई नाम… नहीं दे सकते है |

हाँ …ज़िन्दगी के कुछ ऐसे पल भी होते है जिसका वर्णन आप कर सकते है | जिसे आप अपने किस्से, कहानियों या फिर अपनी कविताओं का हिस्सा बना सकते है |

और यही किस्से और कहानियाँ जब किस्सागोई के दायरे से निकल कर एक विस्तृत फलक पाता है तो दुनिया को मंत्रमुग्ध भी कर देता है | किताब और लेखक दोनों को अमर कर देता है जब लोग इन्हें बड़े चाव से पढ़ते हैं |

लेखक और कवि तो अपनी रचनाओं से प्यार करते ही हैं … गाहे –बेगाहे उनके…

View original post 170 more words



Categories: Uncategorized

2 replies

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: