# स्वस्थ रहना ज़रूरी है-21

लसोड़ा के फायदे

आजकल हर इंसान अपनी खूबसूरती को चेहरे के अलावा अपनी आकर्षक शरीर से दर्शाता है | आकर्षक शरीर पाने के लिए तरह तरह के उपाय करता है |

लेकिन आज कल पौष्टिक भोजन नहीं मिलने के कारण ही कई लोग  बहुत  ही ज्यादा दुबले और कमजोर हो जाते है | ऐसे में शरीर में प्रोटीन की कमी को दूर करने के लिए अंडा और मीट का रोजाना सेवन करने लगते है | लेकिन उसमें मौजूद ज्यादा मात्रा में तेल – मसाले सेहत को हानि पहुँचाते है |

आज मैं एक ऐसे फल के बारे में चर्चा करना चाहता हूँ , जिसे अगर इस अंडा और मीट के बदले में  प्रयोग किया जाये तो शरीर को इससे कहीं  ज्यादा फायदा हो सकता है |

उस फल का नाम है लसोड़ा (Lasoda)

इस फल में भरपूर मात्रा में प्रोटीन, क्रूड फाइबर, कार्बोहाइड्रेट, वसा, फाइबर, आयरन, फॉस्फोरस व कैल्शियम जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं। इसके साथ ही लसोड़ा एंटी इंफ्लेमेटरी गुणों से भी भरपूर है । इसमें कैल्शियम और फास्फोरस भी  होता हैं जो हड्डियों को मजबूत बनाता है और शरीर को ताकत प्रदान करता हैं |

वैसे तो यह एक पेड़ है,  लेकिन यह लसोड़ा सकड़ों बीमारियों को दूर करने वाली जड़ी बूटी का काम करता है |  लसोड़ा के फल के अलावा  इसकी छाल और बीज़ भी  हमारी  सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है |

 लसोड़ा का वानस्पतिक नाम कॉर्डिया मायक्सा (cordia myxa) है। लसोड़ा का पेड़ मध्य आकार का होता है | इसके फल गोल और बहुत चिकने होते हैं ।  इस पेड़ के फल, पत्ते, छाल और बीज  सभी  हमारी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है ।

औषधीय गुणों से भरपूर है लसोड़ा,  इसके लाभ के बारे में विस्तृत रूप से जानते है ॥

लिवर के स्वस्थ्य को ठीक रखता है

लसोड़े के फल में लिवर को ठीक करने वाली विशेष गुण है |  इसके सेवन से लीवर में व्याप्त बहुत सारी गड़बड़ियों को ठीक किया जा सकता  है | यह  लीवर को स्वस्थ रखने में कारगर है |

खून की कमी को दूर करे

लसोड़ा Lasoda का सेवन करने से शरीर में खून की कमी दूर होती हैं.

इस फल को खाने से शरीर में ताकत आती है और शरीर को कई अन्य बीमारियों से राहत मिलती है |

हैजा (कालरा) के उपचार में लसोड़ा के फायदे :

लसोडे़ की छाल को  पीसकर हैजा के रोगी को पिलाने से हैजा रोग में लाभ होता है |

बल शक्तिवर्द्धक है लसोड़ा :

ऐसी सलाह दी जाती है कि  लसोड़े के फलों को सुखाकर उनका चूर्ण बना लें। इस चूर्ण को चीनी की चाशनी में मिलाकर लड्डू बना लें |  इसको खाने से शरीर मोटा होता है और कमर मजबूत होती |

हाई ब्लड प्रेशर में फायदेमंद है

आज कल हाई ब्लड प्रेशर दुनिया भर में  एक आम बीमारी बन गई है | लेकिन इसे घरेलू नुस्खों के जरिए कंट्रोल किया जा सकता है | साल 2016 में प्रकाशित एक अध्ययन से पता चला है कि लसोड़ा  फल में उच्च-रक्तचापरोधी गुण होते हैं। अध्ययन में पाया गया कि 5 सप्ताह के उपयोग से रक्तचाप के स्तर को प्रबंधित कर सकता है और ऑक्सीडेटिव तनाव को कम कर सकता है।

स्किन डिसऑर्डर को दूर करता है

गर्मी के मौसम में स्किन पर फोड़े-फुंसी होना आम बात है। ये समस्या बच्चों में खासकर देखने को मिलती है जो खेलकूंद में किसी कीड़े- मकोड़े  के संपर्क में आ जाते हैं। ऐसे में अगर आपके पास लसोड़े का पेड़ है तो उसके पत्ते को पीसकर प्रभावित त्वचा पर लगाएंगे तो आराम मिलेगा।

जो लोग खुजली और एलर्जी की समस्या से परेशान हैं उनके लिए भी लसोड़ा सहायक है। इसके लिए आप लसोड़े के बीजों को पीसकर खुजली वाली जगह पर लगाएं जिससे आराम मिलेगा ।

गले की खराश को मिटाता है

अगर आपका गला खराब है तो आप ठीक करने के लिए लसोड़े की छाल को पानी में उबालें और फिर छानकर पिएं । स्वाद के लिए आप इसमें काली मिर्च और शहद भी मिला सकते हैं । इससे आपके गले की खराश दूर हो जाएगी। इसके अलावा इसके पेड़ की छाल का काढ़ा महिलाओं को पीरियड में होने वाले दर्द ये राहत दिलाता है।

मसूढ़ो के सूजन को ठीक करता है

बहुत से लोगों को कुछ चीजें खाने के बाद मसूड़ों में सूजन और दांत दर्द होने लगते हैं। ये समग्र ओरल हेल्थ में सहायक है। इसके सेवन से मुंह के छालों को भी दूर किया जा सकता है। ओरल हेल्थ में राहत पाने के लिए आप लसोड़े की छाल का पाउडर लें और उसे दो कप पानी में मिलाकर उबालें और फिर इस ड्रिंक को पीएं। इससे दांत का दर्द, छाले और मसूड़ों की सूजन सब गायब हो जाएगी।

जोड़ों का दर्द और गठिया में राहत दिलाता है

लसोड़ा का नियमित सेवन, गठिया से पीड़ित लोगों में जोड़ों के दर्द से राहत दिलाने के लिए जाना जाता है। पाकिस्तान जर्नल ऑफ बायोलॉजिकल साइंसेज में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, लसोड़ा के फलों और पत्तियों में एनाल्जेसिक गुण होते हैं जो जोड़ों के दर्द से राहत दिला सकते हैं।

सफेल बालों की समस्या दूर करें

अगर आपकी उम्र से पहले ही बाल सफेद हो रहे हैं तो लसोड़ा आपके लिए घरेलू औषधि है। इसके फलों से निकले रस को बालों पर लगाने से सफेद बालों की समस्या दूर हो जाती है। आप लसोड़े के फल के रस को तेल में म‍िलाकर भी प्रयोग में ले सकते हैं। इस मिश्रण से सिरदर्द की समस्या से भी छुटकारा पाया जा सकता है। इतना ही नहीं आप लसोड़े के पत्तों का लेप लगाकर भी बेहतर परिणाम पा सकते हैं ।

नोट :दोस्तों यह एक सामान्य जानकारी के लिए है। इसके प्रयोग से पहले हमेशा अपने डॉक्टर से संपर्क करें ।

स्वस्थ रहना ज़रूरी है=2 ब्लॉग  हेतु  नीचे link पर click करे..

BE HAPPY….BE ACTIVE….BE FOCUSED….BE ALIVE…

If you enjoyed this post, please like, follow, share, and comments

Please follow the blog on social media … visit my website to click below.

        www.retiredkalam.com



Categories: health

11 replies

  1. Bhut khub!
    Iska achar bada acha banta he

    Liked by 1 person

  2. अच्छी जानकारी।

    Liked by 1 person

  3. बहुत बहुत धन्यवाद डियर |

    Like

  4. बहुत अच्छा फल है, हम इसे गुंदा कहते है, मेरे पसंदीदा भी है, कच्चा पक्का दोनों को खाते हैं। जानकारी साझा करने के लिए धन्यवाद। 🙏🙏

    Liked by 1 person

  5. लसोड़ा नामक कोई फल पहले से नहीं जाना सुना था। जानकर अच्छा लगा ।इसका दूसरा भी कोई नाम हो तो बताएँ।

    Liked by 1 person

  6. Reblogged this on Retiredकलम and commented:

    Good evening friends

    Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: