#अपनी शक्ति को पहचानें #

patience with family is love,
Patience with others is respect .
Patience with self is confidence
and Patience with God is faith.

Retiredकलम

एक राजा था | वह बड़ा ही दानी था | वह हमेशा लोगों को कुछ ना कुछ देना चाहता था | इसी क्रम में उसके दिमाग में एक बात सूझी | उसने एक शाम को अपने राज्य में ढिंढोरा पिटवाया कि कल सुबह जो राज्य के पालन नदी को पार कर लेगा उसे हम अपने आधे राज्य का स्वामी बना देंगे | इसलिए आप सब लोग सुबह पांच बजे पालन नदी के किनारे आ जाएँ |

सब लोगों में यह सुन कर खलबली मच गयी, क्योंकि नदी ज्यादा बड़ी नहीं थी और कोई भी इसे आसानी से पार कर सकता था | यह तो बड़े आश्चर्य जनक बात थी कि सिर्फ नदी पार करने से आधा राज्य का मालिक बना दिया जाएगा | सब लोगों में नदी पार करने की होड़ लग गयी |

अतः सुबह पांच बजे पूरा गाँव या कहे कि हर घर से लोग वहाँ जमा हो…

View original post 457 more words



Categories: Uncategorized

2 replies

  1. अति सुन्दर, प्रेरक ।

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: