# भुत का आतंक#-2

आज होलिका दहन है, | इस अवसर पर आप सभी को
मेरी तरफ से होलिका दहन की हार्दिक शुभकामनायें |

Retiredकलम

हॉस्पिटल में रहते हुए स्तेफिना को तीन सप्ताह बीत गए, लेकिन उसकी स्थिति में कोई सुधार नहीं हो रहा था | हालाँकि डॉक्टर अपनी तरफ से काफी प्रयास कर रहे थे | इसी बीच उसके पिता ने स्तेफिना की सहेलियों से मिलने का निश्चय किया ताकि स्तेफिना के रोग के सही कारणों का पता लगाया जा सके |

दुसरे दिन ही लंच के समय वे उसके कॉलेज चले गए | उन्होंने बिलडिंग के पीछे का वह जगह भी देखा, जहाँ स्तेफिना प्रेत -आत्मा से बातें किया करती थी |

बातों बातों में स्तेफिना की सहेलियों ने कुछ महत्वपूर्ण जानकारी दी | स्तेफिना की सहेली ने बताया कि एक लड़का स्तेफिना के पीछे पडा हुआ था जिसे स्तेफिना बिलकुल पसंद नहीं करती थी | एक दिन वह लड़का स्तेफिना को जोर देकर कॉलेज बिलडिंग के पीछे बुलाया था | स्तेफिना भी उस दिन काफी गुस्से में थी | दोनों में काफी…

View original post 1,405 more words



Categories: Uncategorized

2 replies

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: