# वो अनजानी लड़की # ..

The Bond of family & friends is a promise spoken by the Heart.
It is a promise renewed every time we keep in touch.
Stay happy…Stay blessed..

Retiredकलम

आज के इस ब्लॉग की बात ही कुछ अलग है, क्योकि इसमें मैं अपने एक सहपाठी के जीवन में घटी सच्ची घटना का वृत्तांत आप सबों के समक्ष प्रस्तुत करने जा रहा हूँ …

आज की परिवेश में अगर इस घटना के बारे में सोचा जाए तो यह थोडा विचित्र और डरावना सा लगता है |

पर जब यह घटना घटी उस समय बिहार के कुछ इलाकों में इस तरह की घटना का घटित होना एक वास्तविकता थी |

इस संस्मरण के पात्र ने उपरोक्त घटना का जिस बहादुरी से मुकाबला किया उसके लिए वे सचमुच में बधाई के पात्र है |

विमलेश नाम था उसका, देखने में बहुत ही शर्मीला लेकिन पढने में उतना ही तेज़ |

मुझे आज भी वह दिन याद है ..24 जुलाई 1977 जब हमलोगों ने रांची एग्रीकल्चर कॉलेज में एडमिशन लिया था और उसके बाद हमलोगों को जो हॉस्टल आवंटित किया गया था उसमे…

View original post 2,239 more words



Categories: Uncategorized

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: