#हौसला चिड़िया का#

विचार करना चाहिए

आपने किसी पक्षी को घोसला बनाते देखा है | अथक परिश्रम से तिनका तिनका जोड़ कर वो पक्षी अपना एक सुन्दर सा घोसला बनाता है | अपनी संतान के लिए एक सुरक्षित घर बनाता है | तभी अचानक एक तीव्र आंधी आती है, भारी वर्षा होती है और वो घोसला तिनका तिनका होकर बिखर जाता है |

लेकिन इस दुखद घटना से वो पक्षी विलाप नहीं करता है | वो बिना देरी किये फिर से एक नया घोसला बनाने में जुट जाता है और उसे बना कर ही दम लेता है |

इसी सन्दर्भ में मुझे एक घटना याद आ गयी, जिसे मैं शेयर करना चाहता हूँ  |

अभी कुछ दिनों की ही बात है, अचानक ठण्ड बढ़ गयी थी | मैं जिस अपार्टमेंट में रहता हूँ. वहाँ  पर एक छोटा सा गार्डन है | मैं सुबह रोज मोर्निंग वाक के दौरान उस गार्डन में थोड़ी देर बैठ कर सर्दियाँ के धूप का मज़ा लेता हूँ |

गार्डन के  बाएं तरफ  कुछ अशोक के बृक्ष खड़े है और आस पास कुछ फूल के पौधे भी लगें है | जहाँ चिड़ियों का फुदकना और सुबह सुबह उनका शोर सुनता हूँ | उसके लिए रोज़ बिस्कुट ले जाता हूँ और उसे झारियों के पास टुकड़े कर रख देता हूँ | उन नन्ही चिड़ियाँ को बिस्कुट खिलाना अच्छा लगता है |

तभी एक दिन देखा कि दो चिड़ियाँ बारी बारी से सूखे घास के तिनके उठा -उठा कर ले जा रही है | मेरी निगाहें उसका पीछा करने लगी तो पाया कि वो दोनों चिड़ियाँ एक घोसला बना रही है | वह सुबह से शाम तक इसी काम लगी रहती थी और कुछ ही दिनों के प्रयास से उसका एक बहुत खुबसूरत घोसला बन कर तैयार हो गया | मैं रोज घोसले के पास जाकर देखता था कि उसमे अंडे तो नहीं है ?  

एक दिन मैंने पाया कि सचमुच उसमे दो  अंडे भी थे | मैं सोच रहा था, यह छोटी सी चिड़िया इतनी बारीकी से सुन्दर घोसला कैसे बना लेती है ?

लेकिन अगली सुबह – सुबह मैं उठा तो देखा काले बादल घिर आये गए है और कुछ की समय के पश्चात् खूब जोरों की आंधी चलने लगी |  फिर बारिस भी होने लगी |

मौसम खराब होने के कारण मैं मोर्निंग वाक पर नहीं जा सका | लेकिन तभी ध्यान आया कि उस नन्ही  चिड़ियाँ के घोसले  का क्या हुआ होगा ? मैं परेशान सा बारिस थमने का इंतज़ार करने लगा | दोपहर के करीब बारिस बंद हो गयी और मौसम कुछ साफ़ हुआ | मैं दिन का खाना खाने के बाद नीचे पार्क में गया | मैं सोच रहा था, पता नहीं उन चिड़ियों का क्या हुआ होगा ? वो जिंदा भी होगी या नहीं |

मैं जैसे ही उस पेड़ के पास पहुँचा, मेरे आँखों में आँसू आ गए | उसका वो सुन्दर घोसला तिनका- तिनका होकर बिखर चूका था और साथ ही उसके दो अंडे भी टूटे हुए पड़े थे | वे दोनों चिड़ियाँ पास में ही एक डाली पर शांत बैठे थे | मुझे लगा वो विलाप कर रही है |

लेकिन तभी मैंने देखा  कि वो ची ची करती हुई फिर से फुदकने लगी | और थोड़ी ही देर में वो चिड़ियाँ  फिर से एक एक घास का तिनका उठा उठा कर ले जाने लगी | मुझे उस छोटी सी चिड़िया के हौसले को देख कर बहुत आश्चर्य हुआ | सही में उसके ये कर्म हमारे लिए एक सन्देश था |   

जब हमारी मेहनत पर पानी फिर जाता है तो हम क्या करते हैं ? – हम शिकायत करते हैं,   दुनिया से इसका रोना रोते हैं |  लोगों को कोसते हैं, अपनी हालात को कोसते है | और अपनी frustration निकालने के लिए कभी कभी भगवान् को भी दोषी बना देते है |

लेकिन वो नहीं करते जो हमें करना चाहिए | हमें फ़ौरन उस बिगड़े हुए काम को दुबारा सही करने का प्रयास करना चाहिए ।

दोस्तों, जब हमारे साथ कुछ बुरा हो तो हम न्याय पाने का प्रयास  करें, पर साथ ही ध्यान रखें कि कहीं हम अपनी सारी शक्ति frustration, गुस्से और शिकायत में ही न गँवा दें । ऐसा करना हमें हमारे original loss से कहीं ज्यादा नुक्सान पहुंचा सकता है।

और मैं तो ये भी कहूँगा कि अगर कोई बहुत बड़ी बात न हुई हो तो उसे अनदेखा करते हुए अपने काम में पुन: लग जाएं। क्योंकि बड़े काम करने के लिए ये ज़िन्दगी छोटी है, इसे बेकार की चीजों में नहीं गंवाया जाना चाहिए।

खोल दे पंख मेरे कहता है परिंदा ,

अभी और उड़ान बाकी है ,

ज़मीन नहीं है मंज़िल मेरी ,

अभी पूरा आसमान बाकी है

“मंजिल की ओर ” ब्लॉग  हेतु  नीचे link पर click करे..

https://wp.me/pbyD2R-4cB

BE HAPPY….BE ACTIVE….BE FOCUSED….BE ALIVE…

If you enjoyed this post, please like, follow, share and comments

Please follow the blog on social media … visit my website to click below..

        www.retiredkalam.com



Categories: Uncategorized

15 replies

  1. बहुत सुन्दर एवं प्रेरक प्रसंग।

    Liked by 2 people

  2. This is indeed a great post
    May Eishwar Allah bless you for it.

    Liked by 2 people

  3. Reblogged this on Towards A Better Life and commented:
    This post in hindi language is about the resilience that birds show by rebuilding their nests even when it breaks due to the rain. I would suggest yo u to use google translate to get the message this post contains.

    Liked by 2 people

  4. सही बात है, बीना शिकायत लगें रहे। 👍👍

    Liked by 2 people

  5. जीतना

    Liked by 2 people

  6. Inspiration story. Nice example.

    Liked by 2 people

  7. Reblogged this on Retiredकलम and commented:

    घर के अंदर जी भर कर रो लेना ,
    पर दरवाजा हंस कर ही खोलना ,
    क्योंकि लोगों को जब पता लगेगा कि
    तुम अंदर से टूट चुके हो तो वो तुम्हें लूट लेंगे |

    Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: