ये कैसी मोहब्बत ? ( 2 )

वसंत पंचमी की हार्दिक शुभकामनाएँ |

Retiredकलम

जैसा कि इस कहानी के पिछले भाग में देखा था कि माँ बाप के चेतावनी के बाद भी जय के ऊपर उनके बातों का कोई असर नहीं हुआ | उसे पूरा यकीन था कि वह अपना जीवन शान्तु के साथ सुख पूर्वक बिता सकता है |

जय उसके मोहब्बत में इस कदर पागल हो जाता है कि वह अपना लुक ही बदल लेता है और अपनी लड़की वाली लुक की तस्वीर शान्तु के साथ शेयर करता है | और ख़ुशी जाहिर करते हुए कहता है कि अब मैं जय नहीं बल्कि तुम्हारी जया बन गई हूँ | शान्तु भी उसके लुक की तारीफ करता है |

इस तरह करीब एक साल बीत जाते है लेकिन इस दौरान अब तक वे दोनों एक दुसरे से मिल नहीं सके थे | बस सोशल मीडिया ही मिलने का जरिया बना रहा जहाँ घंटो वे दोनों आपस में बातें किया करते |

कुछ दिन…

View original post 1,084 more words



Categories: Uncategorized

8 replies

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: