# सुंदर घर मे सुंदर दीपक #

आज लोगों में होड़ मची है कि कौन कितना बड़ा मकान रखता है उसे कितना सुंदर ढंग से संवारता  है क्योंकि वह उसे अपना स्टेटस सिम्बल (status symbol) समझता है । सुन्दर घर और बड़ी सी गाडी सभी का सपना होता है, क्योंकि इससे समाज मे उसकी इज्जत प्रतिष्ठा बढ़ती है ।

लेकिन मैं ने स्कूल के दिनों में पढ़ा था —  सुंदर घर मे सुंदर दीपक होना चाहिए |

या आप कह सकते हैं कि सोने के अंगूठी में हीरे का नग अंगूठी के खूबसूरती को बढ़ा देता है | उसी तरह यह ज़रूरी है कि घर की सजावट पर ध्यान देने के साथ अपने शरीर पर भी उतना ही ध्यान देना चाहिए | आप उस घर मे दीपक के समान है ।

घर तो हम  बहुत सुंदर बना लेते है लेकिन इन सब चीज़ों को हासिल करने में अपने शरीर का ख्याल नही रखते है | हम तो अपने को पैसा कमाने की मशीन बना लेते है और धन दौलत संचित करने के बाद आपकी बुढ़ापे में हुए बीमारी के कारण वही कमाया हुआ धन डॉ के पास जाता रहता है |

आप तो  कमाए गए धन का उपभोग नही कर पाते है क्योंकि आप धन कमाने के चक्कर मे जीवन जीना ही भूल चुके थे ।

अब तो EMI  का tension,  के साथ साथ उसका बड़ा भाई depression और उसका चाचा डियाबिटीज, और शुगर आप के सुंदर घर मे आकर बस जाते है और आप बरबस लाचार यह सब देखते रहते है ।

इसलिए ज़रूरी है कि  सुन्दर घर मे अपने को स्वस्थ और खुशहाल दीपक के सामान रहें, तभी हमारा चारदीवारी से घिरा मकान सचमुच में घर कहलायेगा |

दोस्तों , आज कल देखा जाता है कि जो हमारे पास है उसे देख कर खुश नहीं होते है बल्कि दुसरे के पास हमसे ज्यादा है उसे देख कर दुखी ज़रूर रहते है | हर इंसान बस एक भीड़ का हिसा बन कर रह जाता है | और इस भाग दौड़ भरी ज़िन्दगी में हम अपने लिए जीना ही भूल जाते है  और अंत समय में सिर्फ पछतावा रह जाता है |

यह भी सच्चाई है कि जीवन को बनाना या बिगाड़ना हमारे हाथ में है। जैसे हमारे विचार होंगे वैसा ही व्यवहार होगा। सदैव निराशा और आलस्य से भरे रहने वाले आदमी का जीवन कभी सुखमय नहीं हो सकता। विचार ही हमारी jजीवन रूपी गाड़ी का इंजन हैं। स्वयं हम दीप्तिमान हों और दूसरों को भी प्रकाशित करें। यही हमारा लक्ष्य होना चाहिए |

हमारा मानना है कि  धन कमाना बुरी बात नहीं है , खूब मेहनत करना चाहिए ,खूब धन कमाना चाहिए लेकिन अपने स्वास्थ की कीमत पर नहीं |

हमें संतुलित जीवन जीना चाहिए | अपने लिए और अपने परिवार के लिए समय निकालना चाहिए | इसके अलावा  हमारे समाज में कुछ कमजोर तबके के लोग है उसे भी मदद करना चाहिए | उसकी दुआ तो मिलती ही है हमें भी आतंरिक ख़ुशी महसूस होती है |

यह सब अपने जीवन में सम्मलित कर हम  मानसिक और शारीरिक रूप से स्वस्थ रहेंगे |  यही स्वस्थ और खुशहाल जीवन सुन्दर दीपक के सामान है जो आपके सुन्दर घर को चार चाँद लगाते है |

सच, हमें अपने सुन्दर घर का सुन्दर दीपक बनना है |

दोस्तों की महफ़िल ब्लॉग  हेतु  नीचे link पर click करे..

https://wp.me/pbyD2R-4rG

BE HAPPY….BE ACTIVE….BE FOCUSED….BE ALIVE…

If you enjoyed this post, please like, follow, share and comments

Please follow the blog on social media … visit my website to click below..

        www.retiredkalam.com



Categories: motivational

16 replies

  1. Verdade amigo…. importante “ser” e não “ter”!…. Gratidão 🙏🍀

    Liked by 1 person

  2. जबरजस्त 🧥👖👞🕶

    Liked by 1 person

  3. आजकल पैसा ही सबकुछ है लोग जरूरत से ज्यदा पैसा जोड़ कर रखते हैं आगे के लिए

    Liked by 1 person

    • सही कहा आपने। हम पैसा कमाने के तरह तरह उपाय सोचते है लेकिन शरीर का ध्यान नही रखते हैं।

      Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: