# कोरोना वाली चुड़ैल # -3

Love is life, And
if you miss Love … you miss Life ..

Retiredकलम

ठकुराईन को कुछ समझ नहीं आ रहा था कि उनके साथ यह क्या हो रहा है ?

वे अपने हाथ पैर भी नहीं हिला पा रही थी |

फिर वो अपनी आँखे खोल कर देखा तो ऊपर आकाश लालिमा लिए हुए बहुत सुन्दर दिखाई पड़ रहा था | और वो अपने को नदी के किनारे पर एक बांस की सीढ़ी में बंधा पाया |

वो अपने दिमाग पर जोर देकर वर्तमान स्थिति के बारे में चिंतन करने लगी | तभी कोशिश करने से ठकुराईन की रस्सी से बंधे उनके हाथ कुछ ढीले पड़ गए और किसी तरह अपने हाथ को आज़ाद कर लिया | वह सीढ़ी जाकर एक झाड़ी से टकराई थी और उसी में उलझकर रुक गई थी |

अब ठकुराइन की तबियत कुछ ठीक लग रही थी |

सूर्योदय का समय था, और आकाश में लालिमा छाई हुई थी | सुबह का मनोरन दृश्य को देख कर कुछ…

View original post 1,165 more words



Categories: Uncategorized

18 replies

  1. Muito interessante 👏👏👏👏

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: