# तीन बन्दर #

महात्मा गांधी के तीन बन्दर  वस्तुतः  मानव स्वभाव के तीन महान गुणों के प्रतीक हैं। पहला बन्दर  अपनी आँखें बन्द कर रखी हैं, जो सन्देशं देता है कि व्यक्ति को संसार की बुराई को नहीं देखना चाहिए |

दूसरा बन्दर जिसका मुँह बन्द है, वो सन्देश देता है कि किसी के बारे में बुरा नहीं बोलना चाहिए | और

तीसरा बन्दर जिसके कान बन्द हैं, वो सन्देश देता है कि किसी की बुराई अथवा निन्दा नहीं सुननी चाहिए |  यदि संसार में रहने वाला प्रत्येक व्यक्ति इन तीन बातों का अपने व्यवहार  में अमल करे तो पारिवारिक और  सामाजिक तनाव अपने आप ही दूर हो जायेगा |

आइये इसकी चर्चा विस्तार से करते है …

तीन बंदरों की वह मूर्ति  गांधीजी को नागपुर के पास स्थित सेवाग्राम आश्रम में  एक चीन के प्रतिनिधिमंडल ने भेंट की थी । चीनी प्रतिनिधिमंडल ने तीन बंदरों की मूर्ति बापू को देते हुए कहा था कि इसकी कीमत खिलौने से ज्यादा भले न हो,  लेकिन इन बंदरों से मिलने वाले संदेश चीन में बेहद लोकप्रिय हैं ।

हर साल  गाँधी जयंती पर हमलोग  गांधी जी को याद तो करते ही है,  साथ ही साथ गाँधी जी के तीन बंदरों  की भी याद आती है | दरअसल यह बन्दर नहीं है बल्कि महात्मा गांधी के तीन विचारों को दर्शाने वाले ये मूर्ति है | जो हमें बताते हैं कि व्यक्ति को हर तरह की  बुराई से दूर रहना चाहिए।

मतलब न बुरा देखा जाए, न बुरा कहा जाए और न बुरा सुना ही जाए। राष्ट्रपिता के इन विचारों का वैज्ञानिक आधार भी है जो बताता है कि गलत विचार कहना, सुनना और बोलना हमारी शारीरिक और मानसिक सेहत के लिए ठीक नहीं है |

सच, ये बन्दर क्या कहते  है ? ….

बुरा मत देखो :

यह सही है कि सोशल मीडिया पर नकारात्मक कंटेंट देखने वालों पर इसका गहरा असर पड़ता है और धीरे  धीरे उसका व्यवहार भी नकारात्मक होने लगता है |

हंगरी के एक प्रोफेसर जॉर्ज गर्बनर ने 1960 में कल्टीवेशन थ्योरी दी थी। इसमें बताया गया कि व्यावसायिक टीवी कार्यक्रमों में दिखाया जाने वाला कंटेंट से हमारे दिलोदिमाग पर गहरा असर करता है। ऐसे लोग मीन वर्ल्ड सिंड्रोम के शिकार हो जाते हैं और उन्हें दुनिया में दुख, षड्यंत्र, अनहोनी की आशंकाएं ज्यादा दिखने लगती हैं।

उदाहरण के लिए, टीवी धारावाहिक देखने वाले लोगों की मानसिकता महिलाओं के प्रति ठीक वैसी हो जाती है, जैसे धारावाहिकों में उन्हें चित्रित किया जाता है।

बुरा मत बोलो :

यह तो हम सभी जानते है कि कड़वे बोल बहुत तरह के समस्याओं को जन्म देता है | एक कहावत है कि हमारी बोली ही हमें पान भी  खिलवाता है और यही बोली लात – जूते  भी खिलवाता है |

 बुरा बोलते रहने से मानसिक समस्याएं पैदा होती है और इससे हमारी इम्युनिटी भी घटने लगती है |
यह हम सभी जानते है कि बोलने का सीधा संबंध सोचने से है |   

व्यक्ति जैसा बोलता है, उसका असर उनके दिमाग और शरीर पर होता है। एक बड़े वैज्ञानिक अध्ययन से पता लगा कि जब लोग खुद में ही नकारात्मकता से बात करते (सेल्फ टॉक) हैं तो मानसिक प्रक्रियाएं प्रभावित होती हैं।

इसके अलावा, गुस्सा, कड़वे बोल व अन्य उत्तेजित विचारों के आने से हमारे  फेफड़े तेजी से सांस भरने लगते हैं और मांसपेशियां स्वत: चलने लगती हैं। इससे शरीर का संतुलन बिगड़ता है जो प्रतिरक्षा (immunity) पर असर करता है।

बुरा मन सुनो...

यह सन्देश देता है कि बुरा मत सुनिए | बार बार कोई असत्य चीज़ सुनने को मिलता है तो वह सत्य प्रतीत होने लगता है अतः असत्य को सुनना ही नहीं चाहिए |

जब गाँधी जी को तीन बन्दर की मूर्ति उपहार के रूप में मिले तो वे इसे देख कर वे  काफी खुश हुए |

उन्होंने इस मूर्ति को  अपने पास जिंदगी भर संभाल कर रखा । इस तरह ये तीन बंदर उनके नाम के साथ हमेशा के लिए जुड़ गए।

इन तीन बुद्धिमान बंदरों का जापान से भी  नाता है |
तीन संदेश देते तीन बंदरों को जापानी संस्कृति में शिंटो संप्रदाय द्वारा काफी सम्मान दिया जाता है।

यह माना जाता है कि ये बंदर चीनी दार्शनिक कन्फ्यूशियस के थे और आठवीं शताब्दी में ये चीन से जापान पहुंचे थे । उस वक्त जापान में शिंटो संप्रदाय का बोलबाला था। जापान में इन्हें ”बुद्धिमान बंदर” माना जाता है और इन्हें यूनेस्को ने अपनी वर्ल्ड हेरिटेज लिस्ट में शामिल किया है।

दोस्तों , मुझे आशा है कि यह आर्टिकल आप को पसंद आया होगा …आप अपने विचार कमेंट्स द्वारा ज़रूर शेयर करें ..

तुम कैसे हो ? ब्लॉग  हेतु  नीचे link पर click करे..

https://wp.me/pbyD2R-424

BE HAPPY….BE ACTIVE….BE FOCUSED….BE ALIVE…

If you enjoyed this post, please like, follow, share and comments

Please follow the blog on social media … visit my website to click below..

        www.retiredkalam.com



Categories: motivational

26 replies

  1. Realmente uma sábia solução 🌻✨🧚‍♂️

    Liked by 1 person

  2. Bom Dia, querido,
    Tenha um bom dia..

    Like

  3. अच्छी जानकारी गाँधी जी के बंदरों के बारे में।

    Liked by 1 person

  4. Great information shared and wonderfully penned

    Liked by 1 person

  5. Good analysis of Gandhian philosophy “Three Monkeys ”
    🐒🐒🐒Janagana manaadhi –, 🙏🙏🙏

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: