# भविष्यवाणी ज्योतिष का #…

मौत के डर  से ही सही , ज़िन्दगी को फुर्सत तो मिली
सड़कों  को राहत  और घरों को रौनक तो मिली ,
कुदरत  तेरा रूठना  भी ज़रूरी था
इंसान का घमंड टूटना भी ज़रूरी था |

Retiredकलम

लोग ठीक ही कहते है कि ज़िन्दगी एक कोरा कागज़ की तरह होता है और हम उस पर विभिन्न रंगों को बिखेर कर उसे और सुन्दर बनाने का प्रयास करते है |

मेरी भी जीवन यात्रा कुछ अलग तरह से गुजरी है जिसे याद कर न सिर्फ मन को शुकून मिलता है बल्कि चेहरे पर बरबस मुस्कान बिखर जाती है |

बात उन दिनों की है जब मैं कॉलेज में पढता था और इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा की तैयारी कर रहा था |

हालाँकि इंटरमीडिएट मे math और एक्स्ट्रा सब्जेक्ट में बायोलॉजी भी ले रखा था और दोनों में पास भी हो गया था | मतलब यह कि इंजीनियरिंग और मेडिकल दोनों के लिए होने वाले entrance टेस्ट में appear हो सकता था |

मुझे आशा थी कि इंजिनियर या फिर मेडिकल  दोनों में से  कोई एक में तो क्वालीफाई  कर ही जाऊंगा | मैं उसी के अनुसार अपनी तैयारी  भी…

View original post 929 more words



Categories: Uncategorized

2 replies

  1. First four lines are so compact and pragmatic,👌

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: