# किस्मत की लकीरें #– 10

Happiness is when, what you think …what you say…
and what you do …are in harmony.

Retiredकलम

मंगलू के इतिहास और काले कारनामो की लिस्ट लम्बी थी | कालिंदी बड़े ध्यान से उसके फाइल का अध्ययन कर रही थी तभी उस के मोबाइल की घंटी बजी |

कालिंदी ने जैसे ही फ़ोन उठाया तो उधर से आवाज़ आया… हेल्लो मैडम, आप ने तो आज फिर कमाल कर दिखाया | यह उसी अनजान आदमी का फ़ोन था जिसने गुप्त सुचना देकर कल कालिंदी की जान बचाई थी |

कालिंदी ने ज़बाब में कहा… मैं कुछ समझी नहीं ?

अभी अभी आपने जिस नेता को बेइज्जत कर भगा दिया और उसके आदमी को भी नहीं छोड़ा … वाकई काबिले तारीफ है | क्या आप को अपने जान की परवाह नहीं है | मैं कब तक आप को बचाता रहूँगा |

पहले तो आप को बहुत बहुत धन्यवाद, मेरी जान बचाने के लिए | लेकिन मैं आप से मिलना चाहती हूँ, | मुझे से कुछ ज़रूरी बातें करनी है |

View original post 1,251 more words



Categories: Uncategorized

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: