# डर के आगे जीत है #

Encourage instead of criticizing ,
Understand instead of judging
Initiate instead of waiting ..
All these habits elevate our Life…

Retiredकलम

My First Bullet Ride..

बात उन दिनों की  है,  जब हमारी  ज़िन्दगी की  सबसे हसीन वो लम्हे .–.बैंक नौकरी की Joining Letter हाथ में थी | बैंक था  “बैंक ऑफ़ इंडिया” और जगह थी  “झुमरीतिलैया” |

उन दिनों इस जगह की बड़ी चर्चा होती थी, क्योकि उन दिनों  “बिनाका गीत माला”  में  इस शहर के खूब चर्चे थे |

मैं पहली बार एजुकेशनल  लाइफ   से  प्रोफेशनल लाइफ में  प्रवेश  कर रहा था |  मेरे मन में एक नया जोश और उत्साह था | उन दिनों मैं सिंगल था , इसलिए फुल मस्ती थी |

घर में सबसे छोटा होने के कारण कोई लायबिलिटी नहीं थी / चिंता.. फिकर.. टेंशन .. दुःख.. तकलीफ हमारे डिक्शनरी में नहीं थे , था तो केवल  जीवन में आगे बढ़ने का जज्बा, प्यार और खुद को हीरो समझना |

 ठीक १०.०० बजे दिनांक 10th November 1983, मैं बैंक ऑफ़ इंडिया के झुमरी तिलैया शाखा…

View original post 719 more words



Categories: Uncategorized

9 replies

  1. Such a good looking man young man.

    Liked by 1 person

  2. Wow , Nice looking on bullet Remembering bullet song and Good written poetry

    Liked by 1 person

  3. एक सुंदर संस्मरण 👌

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: