# रिश्तों की अहमियत #

Love, Relationship & Friendship goes everywhere
whether it is invited or uninvited, But it stays only
there where it is well treated & respected…

Retiredकलम

ज़िन्दगी में सब कुछ पाने की चाहत में हम एक ऐसे दौड़ में लग जाते है कि एक दिन ज़िन्दगी ही हाथ से निकल जाती है | और फिर  अफ़सोस के सिवा कुछ भी नहीं रह जाता है |

हमें  सिर्फ एक बार रुक कर अपने दिल से पूछना ज़रूर चाहिए .कि हम क्यों ज़िन्दगी में निरंतर दौड़ रहे है ? आखिर क्या पा लिया ज़िन्दगी भर दौड़ कर ?

क्या हमें हकीकत में ख़ुशी मिली ? क्या प्यार मिला ? सुकून मिला दिल को ? , क्या आराम मिला ज़िन्दगी में ?

इन सब चीजों से फिर भी वंचित है शायद | और  ज़िन्दगी की बहुत सारी  कीमती वक़्त भी हमारे हाथ से निकल गई  |

अब थोडा रुक जाना चाहिए और शांति की ज़िन्दगी जीना शुरू करना चाहिए | आखिर, कब शुरू करेंगे, हम ज़िन्दगी को जीना ?

हम अपने ख्वाबो के पीछे दौड़ते सारी ज़िन्दगी निकाल देते…

View original post 793 more words



Categories: Uncategorized

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: