# मुझे कुछ कहना है #..12

I thank you, O’ God ,
That you put a child within me that makes
me to see things differently…

Retiredकलम

source:Google.com

रोज की तरह जब आज ब्लॉग लिखने बैठा था तो कुछ अजीब सी अनुभूति  हो रही थी…समझ  में नहीं आ रहा था कि  कहाँ से शुरू करूँ |

हमारे आस – पास जो भी घटित हो रहा है और परिस्थितियां इतनी तेज़ी से बदल रही है कि समझ में नहीं आ रहा है …  लोग क्यों  कहते है कि  जो होता है, अच्छे के लिए होता है, |

कल की दुखद  दुर्घटना के बाद शायद आप भी उन  बातों से इत्तेफाक नहीं रखते होंगे |

हमारे शाखा प्रबंधक साहेब की अचानक मोटर साइकिल एक्सीडेंट में कल ही मौत हो गई , जिससे हम सभी बैंक के स्टाफ आहत थे  |

बार बार उनसे रोज़ रोज़ होने वाली  वार्तालाप को याद करके और उनके परिवार के बारे में सोच कर मन बहुत दुखी हो जाता था |

कितने नेक इंसान थे  और उम्र भी करीब चालीस साल की थी,  अभी…

View original post 978 more words



Categories: Uncategorized

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: