# मन की शांति #

WHEN You move your focus from competition to
contribution, life becomes a celebration.
Never try to defeat people, just win their hearts..

Retiredकलम

किसी ने सही कहा है कि ….शांति की इच्छा हो तो पहले  मन को शांत करो

मन को शांत रखने के लिए ध्यान करना ज़रूरी है, और जब मन शांत होगा  तो  खुशियों  को खुद ब खुद अनुभव कर सकेंगे |

पर यह ध्यान क्या है इसे कथन को चरितार्थ करता एक कहानी प्रस्तुत है …

एक ध्यानी व्यक्ति था | वह एक वृक्ष के नीचे बैठ ध्यान कर रहा होता है , तभी अचानक उसे एक लकडहारा नज़र आता है जो वहाँ लकड़ी काट रहा था |

उसे देख कर वो कुछ नहीं कहता ,| इसी तरह दुसरे दिन भी वह  उसे लकड़ी काटते  देखता है, पर वह ध्यानी कुछ नहीं कहता है |

परन्तु तीसरे दिन जब वही लकड़हारा उसी जगह फिर  लकड़ी काटने आता है तो ध्यानी व्यक्ति इस बार उससे बोला ….सुनो भाई, तुम रोज़ यहाँ बहुत लकड़ी काटने आते हो | बहुत मिहनत…

View original post 1,082 more words



Categories: Uncategorized

6 replies

  1. Great
    Competition yo contribution 😊😊

    Liked by 2 people

  2. Beautiful message ✌️👌👍💐

    Liked by 2 people

  3. This one deserves an applause 👏

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: