# कलयुग का दशरथ #…2

Friendship means understanding, not agreement.
It means forgiveness, not forgetting. It means the
memories last, even if contact is lost…
Happy Friendship Day..

Retiredकलम

आप अपनी पत्नी का मेडिकल रिपोर्ट लेकर आइयेगा और उसके बाद मैं स्पेशलिस्ट डॉक्टर से इस पर विचार – विमर्श करूँगा | ज़रुरत पड़ी तो हमलोग उस हॉस्पिटल में जाकर उनकी स्थिति की जांच भी करेंगे …डॉक्टर साहब, दशरथ को समझा कर बोल रहे थे |

ठीक है डॉ साहब….दशरथ हाथ जोड़ कर बोला |

पत्नी के नास्ते का समय हो चला था | इसलिए डॉ साहब के क्लिनिक से निकल कर तेज़ कदमो से चलता हुआ दशरथ आपोलो हॉस्पिटल पहुँचा तो देखा कौशल्या अभी तक सो रही है |

किसी ने अभी तक पानी भी लाकर नहीं दिया है |

दशरथ  वार्ड- बॉय को आवाज़ लगाया और नास्ता और चाय लाने  को कहा, तो उसने साफ़ मना कर दिया और कहा …मुझे अब नास्ता और भोजन देने का आर्डर नहीं है |

और आज इन्हें दवा भी नहीं दिया गया है |

मगर, ऐसा क्यों ?…दशरथ आश्चर्य से पूछा…

View original post 1,176 more words



Categories: story

4 replies

  1. Happy Friendship Day sir
    It’s true that friendship means understanding 😅😅

    Liked by 1 person

  2. I read full story. A good family story, so common nowadays. Old people should remain cautious, it’s now told everywhere including in preretirement training programme in banks.

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: