# मेरी पहली विदेश यात्रा #…2

Making a friend is an act of Grace,
Having a friend is a Gift…Keeping
a friend is a virtue.. Being a friend is an Honour..

Retiredकलम

source:Google.com

दिल्ली एअरपोर्ट पर हमारी फ्लाइट सही समय पर लैंड कर गयी / वहाँ एअरपोर्ट पर ही हमारे ग्रुप के सभी साथी और केयर-टेकर मिल गए | लेकिन वे सभी उदास दिख रहे थे क्योकि आज रात की फ्लाइट जिससे बैंकाक जाना था वह कैंसिल हो चुकी थी |

उसकी जगह अब दूसरी फ्लाइट कल सुबह छः बजे रवाना होगी, एयरलाइन्स वालों ने ऐसा बताया था |

लेकिन सच कहूँ तो मुझे सुन कर बहुत ख़ुशी हो रही थी | फ्लाइट से रात में सफ़र करने में मुझे और भी ज्यादा डर लगता था |

खैर, रात बिताने के लिए एयरलाइन्स के तरफ से होटल में ठहराने की व्यवस्था की गई थी इसलिए चाय पिने के बाद हमलोग “होटल रैडिसन” जा रहे थे |

मुझे जब पता चला कि रात की फ्लाइट कैंसिल हो गई है तो मैं मन ही मन खुश हो गया | “होटल रैडिसन” फाइव स्टार होटल…

View original post 1,383 more words



Categories: Uncategorized

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: