# मेरी पहली विदेश यात्रा #…3

हर जलते दिये तले अँधेरा होता है ,
हर रात के पीछे एक सवेरा होता है
लोग डर जाते है मुश्किलों को देख कर
पर हर मुश्किल के पीछे सफलता का सवेरा होता है ..

Retiredकलम

source: Google.com

सुबह पांच बजे मैं बिस्तर छोड़ दिया | रात में नींद पूरी नहीं होने के कारण उस समय मेरी आँखे भारी लग रही थी | शरीर में भी थकावट का अनुभव कर रहा था |

मैं अपनी थकान को कम करने के लिए, वही कमरे के फर्श पर बैठ कर योगा करने लगा |

मेरे भ्रामरी प्राणायाम की आवाज़ सुनकर मेरे रूम पार्टनर की नींद खुल गई और उसने मुझे देखते हुए कहा शिकायत भरे लहजे में कहा …आप तो मुझे सोने ही नहीं दोगे |

अब मैं उसको क्या कहता, बस मैं अपने गुस्से को पी गया और वहाँ से उठ कर चुप चाप स्नान करने चला गया | जब मैं स्नान कर वापस आया तब तक उसके तेवर बदल चुके थे |

उसने मेरा हाँथ पकड़ते हुए कहा …आई ऍम सॉरी बॉस | मैं जानता हूँ कि मेरी नाक बहुत आवाज़ करती है | शायद रात…

View original post 1,528 more words



Categories: Tour & Travel

4 replies

  1. आपका ब्लॉग अच्छा है, और यह मेरी हिंदी को सुधारने में मेरी मदद कर रहा है। धन्यवाद।

    Liked by 1 person

  2. Great talent . Your words your , your sketches are very appealing.
    A good painting imitates nature
    And your flow of words reflect your insight😊😊

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: