# एक कहानी सुनो #…5

प्रेम एक ऐसा अनुभव है

जो मनुष्य को कभी हारने नहीं देता

और घृणा एक ऐसा अनुभव है

जो इंसान को कभी जीतने नहीं देता …

प्रेम की भाषा

दोस्तों,

आज मै अपने मोबाइल पर एक विडियो देख रहा था, जिसे देख कर दिल सोचने पर मजबूर हो गया कि जो जानवर हमारी  भाषा को समझ  नहीं पाते है , वही हमारे प्रेम के एहसास को भली भांति समझ लेते |

अतः जानवरों और  हम इंसानों के बीच के प्रेम को देख कर हम सोचने पर मजबूर हो जाते है कि इंसानों के बीच  इतनी नफरत क्यों व्याप्त है | जब कि हम बोल कर अपनी भावनाए प्रकट कर सकते है, और साथ ही अपने गुस्से को गन्दगी मान  कर अपने मन से बाहर निकाल कर  हम अपने को शांत और विवेकशील  बना सकते है |

जब इंसान और जानवरों  के बीच  प्रेम का इज़हार करते हुए विडियो देख रहा था तो इसी से सम्बंधित एक कहानी मुझे याद आ गयी,  जिसे मैं आप सब लोगों के साथ शेयर करना चाहता हूँ |

एक समय की बात है कि मशहूर शायर नजीर अकबराबादी का बड़ा नाम था | जब वे अपनी प्रेम की भावना को शायरी के माध्यम से  लोगों के बीच  प्रस्तुत करते थे तो उनके प्रेम के सामने कई विरोधी और स्वाभिमानी लोग भी उनके सामने हथियार डाल दिया करते थे |

वे आगरा में रहते थे और वहाब के राजा विलास राय के बच्चों को पढाया करते थे |

एक दिन जब वे बच्चों को पढ़ा रहे थे  तभी  उनके कानों में  राजा के क्रोधित स्वर सुनाई पड़े |

उन्होंने जब उस ओर ध्यान से सुना तो पाया कि  राजा साहब  अपने कारिंदे से किसी घोड़े को गोली मार देने की बात कह रहे थे |

राजा बहुत गुस्से में थे और बोल रहे थे ….यह घोडा उपद्रवी हो गया है | हमें लगा था कि कुछ दिनों में सुधर जायेगा , लेकिन इसका उपद्रव तो बढ़ता ही जा रहा है |

इसका उत्पात इतना है कि जैसे ही कोई इस पर सवार होता है वैसे ही वह उसे पटकनी  दे कर  घायल कर देता है |

अब इस खुराफाती घोड़े का जिंदा रहना खतरे से खाली  नहीं है |

उस बेजुबान  घोड़े को  मौत के मुंह में जाते हुए देखा .. तो नज़ीर साहब का ह्रदय  द्रवित हो गया  और उन्होंने उस  घोड़े के लिए कुछ करने की सोची |

वे जल्दी से  राजा साहब के पास आये और  हाथ जोड़ कर कहा…. . हुजुर , मैं आप से एक निवेदन करना चाहता हूँ | इस बेजुबान घोड़े की जान बक्श  दीजिये |

अगर आप इसे अपने पास नहीं रखना चाहते है तो आप मुझे यह घोड़ा  दान कर दीजिये |

राजा उनकी  बात को सुन  कर  आश्चर्यचकित हो गए और बोले … नजीर जी,  आप जानते नहीं है उस घोड़े के बारे में | …. वह घोड़ा  नहीं बल्कि आफत है |

 ..अगर आप इस घोड़े पर बैठेंगे तो यह  घोडा आपको इतनी जोड़ से उछालेगा कि अप की हड्डी पसली टूट जाएगी और आप मेरे बच्चों को भविष्य में पढ़ाने  के लायक नहीं रहेंगे | सच मानिये , यह  घोडा काफी उपद्रवी है |

जब हम सब लोग उससे हार मान चुके है तो भला यह आप के काबू में कैसे आयेगा. ?

अतः हमारी सलाह है कि इस आफत से आप दूर ही रहे |…

इस पर नज़ीर साहब बोले उठे … महाराज,  आप निश्चिन्त रहिये,  मुझे कुछ नहीं होगा |

बड़ी  मिन्नत और बार बार भरोसा दिलाने के बाद, अंत में राजा तैयार हो गए |

राजा ने वह घोडा उन्हें दे दिया, लेकिन आशंका अभी भी उनके दिल में थी |

दूसरे दिन राजा समेत उनके सभी कारिंदे यह देख कर आश्चर्यचकित रह गए कि  नजीर साहब उसी घोड़े पर आराम से सवारी कर उनके बच्चों को पढ़ाने के लिए आए |

 उन्हें हैरान देख कर नजीर साहब मुस्कुराते हुए बोले … महाराज,  आप इतना हैरान मत होइए |

हरेक प्राणी को खुदा ने मोहब्बत की भाषा समझने की अकल दी है, बशर्ते हम उन्हें समझाना जानते हो | वैसे मोहब्बत की भाषा चाहे इंसान हो या जानवर समझते बहुत ज़ल्दी है |

अब देखिये ना,  मैंने तो इस घोड़े को बस एक दिन में ही प्यार की भाषा समझा दी और इसे अपना बना लिया | .. अब यह मेरे हर इशारे को समझता है ..|

यह  बात को सुनकर राजा बहुत  शर्मिंदा हुए और जान गए कि हर प्राणी प्रेम का भूखा होता है |

वह घोडा नज़ीर के साथ इतना घुल मिल गया और उनसे  इतना प्रेम  करने लगा कि ताउम्र नजीर की सेवा करता रहा …..

प्रेम का इज़हार हेतु नीचे link पर click करे..

https://wp.me/pbyD2R-2ba

BE HAPPY….BE ACTIVE….BE FOCUSED….BE ALIVE…

If you enjoyed this post, please like, follow, share and comments

Please follow the blog on social media …link are on contact us page..

www.retiredkalam.com



Categories: story

15 replies

  1. सुंदर व सच्चाई को दर्शाती कहानी 👏👏

    Liked by 1 person

  2. Absolutely true. Animals and birds understand the language of love because they have the same emotions that humans have.

    Liked by 2 people

  3. Animals know who is cruel.Accordingly they behave.Nice

    Liked by 1 person

Trackbacks

  1. # एक कहानी सुनो #…5 – Love & Love Alone

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: