# एक अधूरी प्रेम कहानी #..23

Begin each day with optimism and end each day with
Forgiveness. Happiness in life begins and ends within your
HEART…
Be happy….Be healthy….Be alive…

Retiredकलम

source:Google.com

नया सवेरा आएगा

फिर नया सवेरा आएगा ,फिर पेड़ों पर पंछी चहकेंगे

फिर से भँवरे भी गायेंगे ,फिर हर कली हर फुल महकेंगे

कष्ट के दिन गुजर जायेंगे ,फिर चंचल दिल बहकेंगे

फिर नया सवेरा आएगा , फिर पेड़ो पर पंछी चहकेंगे …

सुमन को हॉस्पिटल से अपने घर में आये हुए पुरे दस दिन हो गए थे और इन दस दिनों में रामवती दिन रात एक करके ऐसी सेवा कर रही थी, जैसे उसका अपना बच्चा बीमार हो ।

रिश्ते में तो वो उसकी सौतन है । लेकिन, सच तो यह है कि रामवती उसे दिल से अपनी छोटी बहन ही मानती है, उसकी छोटी से छोटी इच्छायों का ध्यान रखती है और सुबह शाम उसे सहारा देकर टहलाती है और उसके खान – पान का विशेष ध्यान रखती है | इसी का परिणाम है कि सुमन के स्वास्थ्य में बहुत तेज़ी से सुधार हो रहा है |

View original post 2,242 more words



Categories: Uncategorized

2 replies

  1. बहुत सुन्दर

    Liked by 1 person

Leave a Reply to vermavkv Cancel reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: