# स्वस्थ रहना ज़रूरी है #..15

दही खाने के फायदे

जब भी हम अपने अच्छे स्वास्थ के लिए खान – पान की चर्चा  करते है तो दही के बारे में भी  चर्चा करना लाज़मी हो जाता  है |

दही में बहुत सारे गुण है जो हमारे शरीर को स्वस्थ रखने में मदद करते है |

इसलिए आज हम इसी विषय पर चर्चा करेंगे..

लेकिन चर्चा शुरू करने से पहले, अपने साथ घटी एक वाकया  मुझे याद आ गयी जिसे मैं यहाँ बताना चाहता हूँ ..

यह बात आज से लगभग ३० साल पुरानी है |  उस दिनों  मैं खांसी – सर्दी से हमेशा परेशान रहता था  | थोडा .सा  भी ठंडा   खाद्य बस्तु का प्रयोग किया नहीं कि .. खांसी जुकाम शुरू |

मुझे दही  प्रिय होने के बावजूद मेरे लिए दही विल्कुल वर्जित था |

उन्ही दिनों हमारे मेनेजर साहब की बेटी की शादी थी तो हमें भी उनके गाँव “गाजीपुर” जाने का मौका मिला |

मैंने पुरे सात दिन उस  गाँव में बिताया था | बहुत ही आनंद आया | चूँकि मैं हमेशा से शहर में रहा, और वही  पला बढ़ा |   अतः … गाँव में रहने का सौभाग्य प्राप्त नहीं हुआ था |

पहले ही दिन सुबह मैं नहा धोकर तैयार हुआ तो नाश्ते  से  पहले मुझे वहाँ एक बड़े से कटोरा में दही खाने को दिया गया | उसमे नमक और गोलमिर्च मिलाया हुआ था |

मैंने  ज्योहिं दही को देखा … मेरे खांसी – सर्दी का स्मरण हो गया और मैं घबरा कर बोला … मैं दही नहीं खाता हूँ  |

इतना सुनना था कि मेरे मेनेजर साहब  बोल पड़े … क्यों ?

मैंने ने उन्हें समझाया कि इससे मुझे जुकाम हो जाता है |

वे सुन कर जोर से हँसे और कहा … किसने तुम्हे बताया कि दही खाने से जुकाम हो जाता है |

यह ताज़ी दही है और घर का बना हुआ ताज़ी दही अगर सुबह सुबह खा लो तो दिन भर एनर्जेटिक (energetic) महसूस करोगे | और हाँ,  इससे सर्दी जुकाम जड़ से समाप्त हो जायेगा |

और सही में चमत्कार हुआ और मैं रोज सुबह सुबह दही का सेवन करने लगा |

 ठण्ड के मौसम के बावजूद भी  मुझे कभी भी सर्दी जुकाम नहीं हुआ | मेरे लिए यह आश्चर्य की बात थी |

दही के बारे में मेरी गलत अवधारणा समाप्त हो गयी और उसका परिणाम हुआ कि मेरी जुकाम की समस्या समाप्त हो गयी | अब  मैं आज भी बड़े चाव से सुबह दही का सेवन करता हूँ |

  • यह बिलकुल सही है कि अगर सुबह खाली पेट दही खाया जाए तो आप पूरे दिन एनर्जेटिक महसूस करते है  | लेकिन दही खाने के  कुछ नियम है और किस समय में खाया जाए ,, उससे  सम्बंधित जानकारी का  होना ज़रूरी है |
  • दही  यूं तो सेहत के लिए काफी अच्छा होता है, लेकिन आयुर्वेद के अनुसार अगर इसे गलत समय पर खाया जाए तो इसका उल्टा प्रभाव भी हो सकता है।
  • गर्मियां आते ही, लंच में खाने के साथ दही खाना अधिकतर लोगों की आदत में शामिल होता है। यह एक अच्छी आदत भी है।
  • दही कई मामलों में सेहत के लिए काफी अच्छा होता है और अधिकतर लोगों को इसे खाने से कोई परेशानी नहीं होती।
  • लेकिन  आयुर्वेद में कहा गया है कि रात को दही नहीं खाना चाहिए। रात को दही खाना  हानिकारक साबित होता है, क्योंकि यह mucous और cough बनाता है ।
  • सबसे ज्यादा  दही का लाभ तब होता है जब इसे हम नाश्ते के साथ खाते है |  दही में चीनी मिलाने की  जगह गुड़ का उपयोग किया जाए तो ज्यादा लाभ प्राप्त किया जा सकता है |
  • पेट की विभिन्न परेशानी को दूर करने के लिए दही या दही से बनी  लस्सी या छाछ का सेवन किया जाता है |
  • मैंने कहीं पढ़ा है कि  दही-चीनी मिलाकर सेवन करने की आयुर्वेद में सलाह दी जाती है. क्योंकि  यह  यूटीआई बीमारी और टॉयलेट में जलन को कम करता है |
  • : दही  को सेहत के लिए बहुत ही लाभदायक माना जाता है |  यह पाचन शक्ति को बढ़ाने के साथ साथ बॉडी की इम्‍यूनिटी को भी बढ़ाता है | दही में कैल्शियम की प्रचुर मात्रा होता  है जो हमारे शरीर के हड्डियों  को मजबूत करता  है |

इसके अलावा, इसमें विटामिन बी 2, , विटामिन बी 12,,  मैग्‍नीशियम,  पोटैशियम  और प्रोटीन भी भरपूर मात्रा में होता है जिस वजह से यह सुपरफूड की कैटेगरी में शामिल है |. इन तमाम गुणों के कारण इसे रोज खाने की सलाह दी जाती है |

  • गर्मी के दिनों में शरीर को हाइड्रेट रखने के लिए और लू से बचने के लिए हर दिन दही का सेवन करना चाहिए | अगर पेट में जलन या एसिडिटी की समस्या हो तो एक कटोरी दही खाने से तुरंत आराम मिलता है |
  • दही का सेवन  दोपहर के समय 3 बजे से पहले करना चाहिए । रात को  तो दही का सेवन बिलकुल नहीं करना चाहिए,  क्योंकि  रात के समय  दही  का सेवन करने से म्यूकस बन सकता है ।

आयुर्वेद के अनुसार रात को  दही खाने  से इंफेक्शन,,  बलगम की समस्या, मोटापा, स्किन संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है । 

दही  में पित्त और कफ बढ़ाने के गुण पाए जाते है |

  • दही खाने  के तुरंत बाद सोने से पाचन तंत्र कमजोर होता है ।  दही सूजन को बढ़ाता है |, अतः अगर शरीर में सूजन हो तो इसे नहीं खाना चाहिए । रात में  दही खाने से खांसी-जुखाम, जोड़ो के दर्द की परेशानी जैसी समस्याएं हो सकती हैं।  इसलिए  रात के समय  दही खाने  से परहेज करना ही बेहतर होता है।

 लेकिन कुछ चीजों को दही के साथ  खाने से बचना चाहिए | इनका साथ में सेवन सेहत  को नुकसान  पहुँचा  सकता है :

मैंने यह भी पढ़ा है कि  दही सेहत के लिए लाभकारी फूड तो है ही , लेकिन दही के साथ कुछ ऐसी चीजें हैं जिन्‍हें मिलाकर खाने से इसका  हानिकारक प्रभाव पड़ता है |

स्‍वाद बढ़ाने के लिए कभी कभी ऐसा कर देते है | लेकिन हमें याद रखना चाहिए कि ऐसा करने पर शरीर में टॉक्सिन बढ़ जाता है और यह आपके शरीर की इम्‍यूनिटी को कम कर देता  है |.

आइये जानते है कि वे क्या चीजें है जो दही के साथ नहीं खाना चाहिए..

ऐसा करने पर शरीर पर चरम रोग  जैसे ….चिकत्‍ते,  एक्जीमा,, सोरायसिस, , जैसे बीमारी हो सकती है |.


दूध और दही का साथ में प्रयोग :

हालांकि दही दूध से बना प्रोडक्‍ट है लेकिन आयुर्वेद में इन दोनों का साथ में प्रयोग वर्जित माना गया है.| माना  जाता है कि दोनों का साथ में प्रयोग करने से डायरिया,  गैस,  पेट में दर्द,  इनडायजेशन जैसी समस्‍या हो सकती है

आम के साथ दही

वैसे तो हम सभी को गर्मी के मौसम में आम और लस्‍सी खाना पसंद होता है लेकिन ये हमारी सेहत के लिए नुकसानदेह माना जाता है | दरअसल दोनों की तासीर एक दूसरे से उलट है जिस वजह से जब आप इन दोनों को मिलाकर साथ  में खाते हैं तो शरीर पर त्‍वचा संबंधी समस्‍या हो सकती है | इतना  ही नहीं,  यह शरीर में टॉक्सिन को भी बढ़ाता है जो हमारे डायजेशन को भी प्रभावित करता है |.

मछली और दही

ऐसा कहा जाता है कि कभी भी दो प्रोटीनयुक्‍त भोजन का सेवन साथ में नहीं करना चाहिए | ऐसे में जब हम मछली के साथ दही का सेवन करते हैं तो इसके परिणामस्‍वरूप कई  तरह की बीमारियां हो सकती है.|  दोनों में ही प्रोटीन भरपूर है जिससे इनके सेवन से  अपच, पेट दर्द जैसी समस्‍या हो सकती है |

उड़द दाल के साथ दही

हमलोग को “दही बड़ा”  बहुत स्वादिस्ट लगता  है और इसे हम बड़े स्वाद के साथ खाते है  |  खास कर पर्व-त्यौहार के मौकों पर ज्यादातर घरों में दही बड़ा  बनता है | बड़ा को बनाने में उड़द दाल  का प्रयोग होता है |

आयुर्वेद के अनुसार  दही के साथ अगर  हम उड़द दाल का सेवन करते है करें तो पेट में एसिडिटी, सूजन,  लूजमोशन  जैसी समस्‍याएं हो सकती हैं इसलिए इन दोनों को कभी भी एक साथ सेवन नहीं करना चाहिए |

(ऊपर दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं.| इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

वो सात दिन …पढने हेतु नीचे link पर click करें

https://wp.me/pbyD2R-2yy

BE HAPPY….BE ACTIVE….BE FOCUSED….BE ALIVE…

If you enjoyed this post, please like, follow, share and comments

Please follow the blog on social media …link are on contact us page..

www.retiredkalam.com



Categories: health

12 replies

  1. Great advice! I thank the airlines for making me a yogurt fan. I can’t recall ever having breakfast on a plane that didn’t include yogurt.

    Liked by 1 person

  2. Useful information. Another health benefit of eating curd daily is that it reduces cholesterol levels thus lowering the risk of high BP.

    Liked by 1 person

  3. Many facts about the use of curds.
    Combination of curd with other food.
    Benefits and uses are explained nicely.

    Liked by 1 person

  4. बिलकुल जी दही ,सत्तू ,फ्रिज का पानी शाम के बाद नही खाना चाहिए

    Liked by 1 person

  5. बहुत ही सुंदर ज्ञान

    Liked by 1 person

  6. Such an informational post! One thing that I want to add to this is that one can eat curd even after sunrise. Only thing you have to keep in mind is that adding black pepper powder in it, as it diminishes the mucous causing effect of curd.

    Like

Leave a Reply to vermavkv Cancel reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: