कोरोना से कैसे बचें…

दोस्तों,

मैं आशा करता हूँ  कि आप और आपके परिवार के सभी लोग स्वस्थ होंगे |  इन दिनों कोरोना वायरस  महामारी से देश में डर का माहौल बना हुआ है । कृपया आप अपना और अपने परिवार का ध्यान रखे और कुछ समय के लिए सार्वजानिक रूप से मिलने से बचें | क्योकि आप मेरे लिए एक अमूल्य धरोहर है |

इन दिनों लगातार समाचारपत्रों के द्वारा मिल रही है कोरोना की जानकारी से मन व्यथित रहता है, बार बार यह बात मन में आता है कि यह सन आखिर कब तक चलेगा और कब ख़तम होगी यह बिमारी |

कहते है कि हमलोगों ने बहुत तरक्की कर ली है,|  हमारे मेडिकल सिस्टम के लिए बड़े बड़े दावे किये जा रहे थे ,लेकिन आज की स्थिति को देख कर यही महसूस हो रहा है कि आज कोरोना वायरस से जंग में सरकार की  तमाम कोशिश  नाकाम हो रही हैं।

देश के हालात बेकाबू हो गए हैं। लॉकडाउन और नाइट कर्फ्यू जैसे कदम उठाए जा रहे हैं । देश में कहीं ऑक्सीजन की कमी तो कहीं इंजेक्शन की । अस्पतालों के बाहर कोरोना मरीजों की मौत की विचलित करने वाली तस्वीरें सामने आ रही हैं। वही हालात आज शमशान घाटों से  भी देखने को मिल रही है |

आखिर एक साल बाद भी हम कोरोना पर काबू क्यों नहीं पा सके। आखिर भारत में कोरोना के मामलों की बढ़ोतरी के पीछे क्या कारण हैं।

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक  एम्स के डायरेक्टर डॉ. रणदीप गुलेरिया ने कहा कि ‘कोविड के मामलों में बढ़ोतरी के कई कारण हैं ।

लेकिन  इसके दो  मुख्य कारण हैं – जब जनवरी / फरवरी में टीकाकरण शुरू हुआ और मामलों में कमी आई तो लोगों ने कोविड को लेकर उचित सावधानी का पालन करना बंद कर दिया था  और इस समय वायरस म्यूटेट हो गया , इसलिए यह अधिक तेजी से फैल गया।

ऐसा लगता है कि हमारा हेल्थकेयर सिस्टम में भारी गिरावट आ गयी है | इन दिनों मामलों की बढ़ती संख्या के लिए अस्पतालों में बेड्स / संसाधनों की भारी कमी है |

हमें तत्काल ठोस कदम उठा कर कोविड 19  मामलों की संख्या को नियंत्रण करना  आवश्यक है |  

यह  ऐसा समय है जब हमारे देश में बहुत सारी धार्मिक गतिविधियां हो रही है और चुनाव भी चल रहे हैं। हमें समझना चाहिए कि जीवन सबसे महत्वपूर्ण है । इन गतिविधियों को प्रतिबंधित तरीके से कर सकते थे ताकि धार्मिक भावना आहत न हो और कोविड के उचित व्यवहार का पालन किया जा सके।

डॉ गुलेरिया ने कहा है  कि हमें याद रखना होगा कि कोई भी टीका शत –  प्रतिशत प्रभावी नहीं है । टिका लेने के बाद भी आपको संक्रमण हो सकता है लेकिन हमारे शरीर में एंटीबॉडी वायरस को बढ़ने नहीं देंगे और आपको गंभीर बीमारी नहीं होगी । इसलिए टीका ज़रूर लगवाना चाहिए |

लांसेंट जर्नल की चेतावनी

लांसेंट जर्नल (Lancet Report)  में ‘भारत की दूसरी कोरोना लहर के प्रबंधन के लिए जरूरी कदम’ शीर्षक वाली इस रिपोर्ट में बताया गया है कि जल्द ही देश में हर दिन औसतन 1750  मरीजों की मौत हो सकती है।

रोजाना मौतों की यह संख्या बहुत तेजी से बढ़ते हुए जून के पहले सप्ताह में 2320  तक पहुंच सकती है। रिपोर्ट के मुताबिक इस बार कोरोना से देश के टीयर-2  व टीयर-3  श्रेणी वाले शहर सबसे ज्यादा संक्रमित हैं। यानी 10  लाख तक की आबादी वाले शहरों में इस बार हाल ज्यादा खराब हैं।

साथ ही यह भी देखा जा रहा है कि पहली लहर से दूसरी लहर में कोरोना और भी भयावह स्थिति में है क्योंकि  वायरस double mutate हो रहा है और इसके लक्षण भी अलग तरह के दिखाई दे रहे है |

हम यहाँ इसी तरह के कुछ लक्षणों की चर्चा कर रहे है |  आप भी इन 10  छुपे लक्षणों को जानें ताकि आप भी  कोरोना संक्रमण के  शिकार होने से बच सकें ….

Coronavirus Symptoms of Infection:

कोरोना वायरस का एक नया ही स्वरूप अब सामने आने लगा है। कई बार लोगों में कोरोना के लक्षण ही नजर नहीं आते हैं। कोरोना वायरस का अटैक कई लोगों में सामान्य संक्रमण सा नजर आता है । ऐसे में कोरोना संक्रमित होने के बाद भी लोगों को कोरोना संक्रमण की जानकारी नहीं मिल पाती है । इसलिए जरूरी है कि कोरोना संक्रमण के इन 10 लक्षणों में से एक भी  नजर आए तो संक्रमण की जांच जरूर कराएं ।

  • यदि आपके सिर में लगातार दर्द हो रहा है या दर्द की दवा के बाद भी सिर में दर्द बना रहे तो आपको कोरोना टेस्ट करवा लेना चाहिए।
  • सही तरीके से खाने-पीने के बाद भी यदि आपको वीकनेस महसूस हो रही हो तो ये कोरोना का लक्षण हो सकता है।
  • अचानक से आपको  ऐसा लगे कि आपकी याददाश्त कम होने लगी है या आपके भूलने की समस्या बढ़ रही है तो आपको कोरोना टेस्ट कराना चाहिए।
  • यदि आपको  हल्का जुकाम हो और बुखार महसूस हो रहा तो आपको सर्तक हो जाना चाहिए।
  • हाथ-पैरों की मासपेशियों में अचानक से दर्द बढ़ जाना भी कोरोना संक्रमण का लक्षण हो सकता है ।
  • यदि आपकी आंखें लाल हो रही हों या उनमें दर्द हो रहा हो तो कोरोना संक्रमण की जांच करा लें ।
  • यदि चार दिन से अधिक जुकाम रहे या जुकाम के साथ अन्य लक्षण भी दिखे तो कोरोना संक्रमण का खतरा हो सकता है।
  • बिना किसी अन्य लक्षण के यदि सांस फूल रही हो या सांस लेने में दिक्कत हो तो कोरोना संक्रमण का खतरा हो सकता है।
  • अचानक से भूख न लगे या मुँह का स्वाद चला जाए तो ये कोरोना का लक्षण् हो सकता है। इसके साथ महक आना भी बंद हो सकता है ।
  • लगातार सूखी खांसी आना भी कोरोना संक्रमण का लक्षण हो सकता है।

आज कल यह भी देखा गया है कि कोरोना टेस्ट में भी बिमारी पकड़ में नहीं आ रही है , और टेस्ट  निगेटिव आने के वावजूद भी शरीर  में लक्षण वर्तमान रहते है | इसलिए पूरी सावधानी बरतनी चाहिए |

हमने अपने पिछले ब्लॉग में चर्चा किया था कि हमारे शरीर  की इम्युनिटी लेवल कैसे  जान सकते है और उसे बढ़ाने  के उपायों पर चर्चा किया था | ताकि कोरोना संक्रमण से बचाओ किया जा सके | उसका link नीचे दिया गया है …

https://wp.me/pbyD2R-2uP

आज तो आंकड़े यह बता रहे है कि वर्ल्ड का हर चौथा कोरोना मरीज़ इंडियन है यानी दुनिया का लगभग 25 % कोरोना संक्रमित लोग भारत में है | अगर मरीजों की संख्या इसी रफ़्तार से बढती रही तो आने वाला समय कितना भयावह होगा , कहा नहीं जा सकता |

कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए मानसिक तंदरुस्ती के साथ साह  शारीरिक तंदरुस्ती ज़रूरी है |  शारीरिक तंदरुस्ती के लिए जरूरी है कि हमारा  खान-पान अच्छा हो जिससे हमारा  इम्युनिटी स्ट्रॉन्ग हो. |

यह तो हम सभी जानते है कि  न्यूट्रिशन और हाइड्रेशन से हमारा इम्युन सिस्टम मजबूत होता है और संक्रामक बीमारियों का खतरा कम हो जाता है |   

 पिछले साल में  जब कोरोना संक्रमण की शुरुआत हुई थी, तब वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन ने बताया था कि खाने-पीने में हमें  क्या सावधानियां बरतनी चाहिए | आज उसकी चर्चा करना चाहते है….  

  • प्रोसेस्ड  फूड  से परहेज

ट्रांस फैट से दूर रहें |. प्रोसेस्ड फूड,  फास्ट फूड,  फ्राइड फूड,  फ्रोजन पिज्जा जैसी चीजें खानें से बचें क्योंकि,  किसी  भी तरह की दूसरी बीमारी से कोरोना वायरस होने की संभावना बढ़ जाती है |. मोटापा,  दिल की बीमारी,  स्ट्रोक , डायबिटीज और कुछ तरह के कैंसर से बचने के लिए नमक और चीनी ज्यादा मात्रा में न खाएं |. 

  • डाइट में शामिल करें ये चीजें

अपनी डाइट में ताजे फल और अनप्रोसेस्ड फूड को शामिल ज़रूर करें | खास कर मौसमी फल और संतरा का सेवन ज्यादा करें | इससे आपके शरीर को जरूरी विटामिन,  मिनरल्स,  फाइबर प्रोटीन और एंटी ऑक्सीडेंट मिलेगा |.
खाने में फल,  सब्जियां,  दाल,  बीन्स को शामिल करें | अनप्रोसेस्ड मक्का,  बाजरा,  गेहूं,  जड़ वाली सब्जियां जैसे   आलू ,  शकरकंद और अरबी खाएं.|  
फैटी फिश, बटर कोकोनट,  ऑयल क्रीम, चीज,  घी खाने के बजाय  फिश,  एवोकाडो,  नट्स, ऑलिव ऑयल  सोया,  कैनोला,  सूरजमुखी और कॉर्न ऑयल को खाने में शामिल करें |  रेड मीट और प्रोसेस्ड मीट बि​ल्कुल न खाएं.

  • रेस्टोरेंट से दूरी बनाएं

कोरोना एक दूसरे के संपर्क में आने से तेजी से फैलता है | इसलिए घर से बाहर जाकर होटल में खाने से बचें | वहाँ कोरोना के  संक्रमण का  खतरा बहुत अधिक होता है | घर का खाना सबसे शुद्ध और पौष्टिक होता है | 

  • रोज़ 8 से 10 ग्लास पानी जरूर​ पिएं

पानी शरीर के तापमान को नियंत्रित रखता है और विषाक्त पदार्थों को शरीर से बाहर निकलने में मदद करता है | कम से कम  8 से 10 ग्लास पानी जरूर​ पिएं.| पानी के अलावा फलों-सब्जियों का जूस और नींबू पानी भी  पी सकते हैं | लेकिन  कोल्ड ड्रिंक,  सोडा और कॉफी से परहेज करना चाहिए |.

  • मेंटल हेल्थ का ख्याल

शारीरिक तंदरुस्ती के साथ साथ मेंटल  हेल्थ का भी ख्याल रखना चाहिए | ऐसे भी कई लोग हैं, जो पहले से कोरोना वायरस से जूझ रहे हैं | ऐसे में कोरोना के मरीजों के लिए मेंटल हेल्थ का ख्याल रखना बेहद जरूरी है |
इसके अलावा हम सभी को मानसिक रूप से स्वस्थ रहने के लिए अपनी दिनचर्या को बेहतर बनाएं | अच्छी पुस्तकें पढना, सकारात्मक सोच के साथ दिन का  शुरुआत करना |
मन को सुकून देने वाला गाने सुनना  और कोई अच्छी  hobby को  अपना कर मानसिक रूप से स्वस्थ रह सकते  है और depression जैसी स्थिति से उबर  सकते है | अगर फिर भी मानसिक रूप से स्वस्थ महसूस नहीं कर रहे तो डॉक्टर से संपर्क करें |

इसके अलावा तीन बातों का ख्याल रखे …

कोरोना वायरस के सम्पर्क में आने से खुद को बचाना ही इस संक्रमण की रोकथाम का सबसे अच्छा तरीका है। सोशल डिस्टेंसिंग इसका सबसे अच्छा तरीका है। आसान शब्दों में कहें तो खुद को समाज से दूर कर लेना। बहुत ज़रूरी हो तभी घर से बाहर निकले, और भीड़ भाड़ वाली जगहों  पर जाने से बचे |

मास्क लगाकर ही घर से बाहर निकलना चाहिए | मास्क लगाने से हम अपने को संक्रमण से बचा  सकते है | इसके अलावा भी बहुत सारे उपाय हम ने अपने पिछले ब्लॉग में बताया था , जिसका link नीचे दिया जा रहा  है ….

https://wp.me/pbyD2R-2tX

दोस्तों, हम सब एक भयानक दौड़ से गुजर रहे है | इस COVID -19 से हमारे जीवन में भूचाल आ गया है…  हर दिन इसके चपेट में आने वालों की संख्या बढती जा रही हैं | सभी लोग घबराये नज़र आ रहे है, समझ में नहीं आ रहा कि क्या करें और क्या नहीं | लेकिन ऐसी स्थिति में हमें धैर्य बनाये रखना है और सकारात्मक सोच के साथ सरकारी नियमो का पालन करेंगे तो बहुत जल्द हम इस समस्या से निजात पा लेंगे…ऐसी उम्मीद करते है …

ऐ कोरोना , कहाँ से आये
तेरा भय इतना क्यों सताए ।
कोरोना तुझसे नहीं डरते हम
हममें है तुझसे लड़ने का दम।
सोशल डिसटेंसिंग निभाएंगे
गुड सिटिज़न बनकर दिखाएंगे।
सरकार के रूल्स अपनाएंगे
घर मे बैठकर तुझे हराएंगे
और फिर अपना जीवन खुशहाल बनाएंगे ।

पहले की ब्लॉग  हेतु नीचे link पर click करे..
https:||wp.me|pbyD2R-1uE

BE HAPPY….BE ACTIVE….BE FOCUSED….BE ALIVE…
If you enjoyed this post, please like, follow, share and comments
Please follow the blog on social media …link are on contact us page..
www.retiredkalam.com



Categories: infotainment

4 replies

  1. Health is wealth. I am taking care for myself since the Corona second phase started. I had no symptom of any Corona symptoms . I decided to go to my native Odisha.I had gone to pathology lab Vadodara to obtain Rt Pcr report.I received positive report yesterday. Now I am in home isolation under medical supervision.
    I did not understand. What a wonderful Corona is? Nicely explained.

    Liked by 1 person

  2. Useful health tips which we all should follow.

    Liked by 1 person

Leave a Reply to Sanjeev Lal Cancel reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: