खामोश ज़िन्दगी..

ज़िन्दगी में कई ऐसे मौके आते है कि जब हमें लगता है कि हम उदास है, और हमारे चारो तरफ मुश्किलों का अम्बार लगा हुआ है |

हमारे आस पास जो भी है वो सब हमारे खिलाफ है | एक भी व्यक्ति ऐसा नज़र नहीं आता है जो… हमें और हमारी  भावनाओं को पूरी तरह समझ सके और  हमारा सही मार्गदर्शन कर सके….

जब किसी की ऐसी सोच हो और ऐसा वह महसूस कर रहा हो तो वह अपने आप को कैसे संभाले ?

..इस नकारात्मक विचारों से अपने को कैसे बाहर लायें.. और फिर सही ढंग से एक नयी शुरुआत कर सके .. यह एक वाजिब सवाल है …

चुप रहते हो

चुप चुप रहते हो …अब कोई सवाल क्यों  नहीं करते,

मेरे रूठने  पर … अब बवाल  क्यों नहीं करते …

माना कि रिटायरमेंट में ख़ालीपन आ जाता है

अपनी अधूरी शौक का …इंतज़ाम क्यों नही करते

ज़िंदगी  में न  जाने कितने ही काम है अधूरे

उन्हें पूरा करने का … फरमान क्यों नहीं करते

यह सच है  शरीर से तो कमजोर हो गए तुम

दिल में जो जुनून  है …उसे इस्तेमाल क्यों  नहीं करते

ज़िंदगी बहुत ख़ूबसूरत है.. विजय ,

इस खूबसूरती का एहसास क्यों नहीं करते …

चुप चुप रहते हो …कोई सवाल क्यों नहीं करते…

….विजय वर्मा ……

तीसरी कसम पढने हेतु नीचे link पर click करे..

https://wp.me/pbyD2R-ie

BE HAPPY….BE ACTIVE….BE FOCUSED….BE ALIVE…

If you enjoyed this post, please like, follow, share and comments

Please follow the blog on social media …link are on contact us page..

www.retiredkalam.com



Categories: kavita

14 replies

  1. People use their retirement life in their own way. Some person has hobby of gardening or some person has hobby of writing. Some persons are busy with their children and grandchildren. All depend upon God wishes. Your thought is nice.

    Liked by 2 people

    • I like your opinion very much..
      All depends on God’s wishes. But it will be better to have more than one hobby ..
      whether gardening, writing , friendship and busy with children all in one. .hahahaha…
      Thank you dear for your beautiful comments..

      Like

  2. सही है कहानी बहुत सुंदर है। ऐसे ही लिखते। रहे।

    Liked by 2 people

    • बहुत बहुत धन्यवाद डिअर ..
      तुम पढ़ते रहो …मैं लिखता रहूँ…
      स्वस्थ रहो …मस्त रहो…

      Like

  3. Wise advice. While we are here, we have purpose.

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: