स्वस्थ रहना ज़रूरी है …3

मेरी इतनी हिम्मत कहाँ कि मैं अपनी किस्मत को बदल दूँ

लेकिन जब भी देखा है तुझे ज़िन्दगी…बस मुस्करा देता हूँ….

खुल कर हँसे

बात उन दिनों की है जब मैं बैंक में था और  पहली बार सात दिनों की ट्रेनिंग के लिए मुझे जयपुर ट्रेनिंग सेंटर में जाना हुआ | वहाँ विभिन्न शाखाओं से आये हुए नए नए साथियों से जान पहचान हुई | पहले दिन का अनुभव बड़ा लाजवाब था |

हमारे एक दो परिचित स्टाफ  भी वहाँ  आये  थे तो  उनके  साथ ही मेरा ज्यादा समय बीत रहा था |

घर से दूर रहने के बाबजूद बहुल अच्छा महसूस हो रहा था | मुझे एहसास हुआ कि यहाँ आने के बाद शाखा में जो काम का टेंशन बना रहता था, वह यहाँ नहीं था

और नए नए साथी दोस्तों के साथ हँसी – मज़ाक, साथ में खाना – पीना और घूमना- फिरना … इन सबों के कारण मुझे बहुत अच्छा महसूस हो रहा था |

एक दोस्त ने तो यह भी कहा कि यहाँ ट्रेनिंग के नाम पर हमें इसीलिए भेजा जाता है कि कुछ दिनों  के लिए ब्रांच के टेंशन से हम सब  दूर रह सके | उसके बाद फिर  तरो – ताज़ा होकर अपने शाखा में पहुँचे  और नए जोश के साथ अपने काम में लग जाएँ,  अच्छा परफॉर्म करके अपने शाखा और अपने बैंक का नाम रोशन करें  |

खैर जो भी हो,  मुझे बहुत अच्छा लग रहा था और मैं अपने आप को काफी हल्का महसूस कर रहा था

वहाँ का भोजन भी ठीक – ठाक था और रहने का भी अच्छा प्रबंध था |

सुबह सुबह कुछ आवाज़ मेरी कानो में गई और मेरी नींद  खुल गई | मैं बिस्तर से उठ कर घडी देखा तो सुबह के छह बज रहे थे और कमरे की खिड़की से बाहर देखा तो एक सुन्दर  सा पार्क साफ़ साफ़ दिखाई पड़  रहा था | उस पार्क में काफी पेड़ पौधे और हरियाली दिख रहे थे |

मैंने देखा कि पार्क में बहुत से लोग जिसमे ज्यादातर बुजुर्ग थे, पार्क में टहल रहे थे |

8 -10 लोगों ने  अपनी एक टोली बना रखी  थी | वे सब एक गोलाकार घेरे  में खड़े होकर जोर जोर से हँसने की कोशिश कर रहे थे | कुछ समय तो मैं  देखता रहा, लेकिन मुझे समझ नहीं आया कि लोग बिना बात के पागलों की तरह क्यों हँस रहे  है |

मेरी उत्सुकता बढ़ी और मैं नित्य कर्मो से मुक्त होकर उस पार्क में चला गया जो बिलकुल पास में ही था |

 मैं आश्चर्य चकित हो सोचने लगा  कि बिना मतलब  जोर जोर से हँसने का भी कोई फायदा है क्या |

जब मैंने अपने एक मित्र से इसकी चर्चा की तो उसने बताया कि ये लोग लाफ्टर क्लब के सदस्य है और इनका मानना  है कि  जोर जोर से हँसने पर  शारीरिक लाभ होता है |

 दुसरे दिन भी सुबह सुबह वही नज़ारा दिखा तो मैं फिर रूम से निकल कर पार्क में चला गया और उनलोगों के साथ मैं भी एक्सरसाइज किया  और जोर जोर से हँसने  की प्रक्रिया में  भी भाग लिया |

फिर मैं एक बुजुर्ग से इसके बारे में चर्चा की तो उन्होंने कुछ महत्वपूर्ण जानकारियाँ दी | लाफ्टर के फायदे के बारे में जानकार मुझे बहुत अच्छा लगा |  मैं आज भी उस नियम को फॉलो करने की कोशिश करता हूँ

…उन्होंने बताया था ……

आपकी एक छोटी सी मुस्कान दुसरो को ख़ुशी का एहसास कराती है और खुद के लिए भी फायदेमंद होती है | जिस तरह अच्छी हवा , शुद्ध खान – पान सेहतमंद रहने के लिए ज़रूरी है उसी प्रकार आपकी हँसी भी आपको स्वस्थ रखने में अहम भूमिका निभाती है |

अगर आप सुबह – शाम हँसने की आदत डाल लें तो कोई भी बीमारी, चाहे मानसिक हो या शारीरिक  आप के पास नहीं आएगी |

हेल्थ एक्सपर्ट के मुताबिक रोजाना हँसने से सेहत तो अच्छी रहती ही है, साथ ही शरीर में एनर्जी भी बनी रहती है | आइये जाने कैसे…

..खुल कर हँसने  से हमारे शरीर  में ब्लड सर्कुलेशन सही बना रहता है | दरअसल जब हँसते है तो हमारे शरीर में ज्यादा मात्र में ऑक्सीजन पहुँचता है जो हार्ट पम्पिंग रेट को ठीक रखने में मदद करता है |

..हँसने से हमारा immune सिस्टम बेहतर बनता है जो कई तरह की बिमारियों से लड़ने में मदद करता है | इसलिए स्वस्थ जीवन जीने के लिए ज़रूरी है कि आप हँसते हुए अपने दिन की शुरुआत करें |

..अगर आपको आसानी से रात को नींद नहीं आती है तो आज से ही हँसने की आदत डाल लें | हँसने से शरीर  में “मेलाटोनिन” नाम का हॉर्मोन बनता है जो हमें सुकून की नींद देने में मदद करता है |

..हँसने से हमारा  दिल बेहतर तरीके से काम करने लगता है | साथ ही नियमित रूप से हँसने से हार्ट अटैक और अन्य दिल की बीमारियाँ से बचा जा सकता है |

..जवान और खुबसूरत दिखने के लिए खुल कर हँसना ज़रूरी है | क्योंकि इससे चेहरे में मौजूद मांसपेशियां अच्छी काम करने लगती है,  जिससे चेहरे के चारो तरफ ब्लड सर्कुलेशन अच्छी तरह से होता है जो हमें जवान और खुबसूरत दिखाता है |

..तनाव को दूर करने के लिए जो काम हँसी करती है वो कोई दवाई नहीं कर सकती | दरअसल हँसने से आप लोगों के साथ ज्यादा socially active हो जाते है, जिससे तनाव खुद ही कम हो जाता है |

..जब हम हँसते है तो हमारे  फेफड़ों की  हवा तेज़ी से निकलती है जिसकी  वज़ह से हमें गहरी सांस लेने में मदद मिलती है ..इससे शरीर में ऑक्सीजन की सप्लाई बेहतर तरीके से होने लगती है | हँसने से हमें एनर्जी भी मिलती है जो हमारे शरीर  के थकावट और सुस्ती को दूर करती है .. 

 भोजन आधा पेट कर

दोगुना पानी पीवा

तिगुन श्रम , चौगुन हँसी

वर्ष सवा सौ जीवा

रोज़ हँसे ….खुल कर हँसे ….खूब हँसे

हँसने से तन मन में उत्साह का संचार होता है और दिल से हँसना तो किसी दवा से कम नहीं |

इसलिए आज जगह जगह पर हास्य क्लब बनाए जा रहे है , ताकि भाग दौड़ भरी ज़िन्दगी में तनाव से मुक्ति मिल सके ….आइये आज लाफ्टर डे मनाएं ..

हँस  कर भी जीना है …रो कर भी  जीना है |

जब जीना ही है तो क्यों नहीं हँसते – हँसते जिया जाये……आइये एक वादा करें..

इससे पहले की ब्लॉग हेतु नीचे link पर click करे..

स्वस्थ रहना ज़रूरी है ….2

BE HAPPY….BE ACTIVE….BE FOCUSED….BE ALIVE…

If you enjoyed this post, please like, follow, share and comments

Please follow the blog on social media …link are on contact us page..

www.retiredkalam.com



Categories: health

6 replies

  1. Thank you dear ..
    stay connected…stay happy..

    Like

  2. Nice blog. Laughter is the best medicine.

    Liked by 1 person

  3. Laugh and love are what the world needs desperately. We have enough problems, worries, and hatred already.

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: