# भावपूर्ण श्रद्धांजली #

मैं अपने को भाग्यशाली समझता हूँ कि इतने थोड़े दिनों में ही आप लोग मेरे ब्लॉग को इतना स्नेह और प्यार दे रहे है ….मेरे  ब्लॉग को आपलोग पढ़ते है और सराहना करते भी है  |

कई बार आप सबों की स्वस्थ आलोचना भी पढने को  मिलती है, जो मुझे कुछ और अच्छा लिखने के लिए प्रेरित करता रहता है |

वैसे तो हर ब्लॉगर की तरह मेरी भी इच्छा होती है कि हमेशा  कुछ नया और कुछ अच्छा आप के सम्मुख प्रस्तुत करूँ….जिसे पढ़ कर सभी लोगों को फायदा भी हो और मनोरंजन भी …..

और जब आप लोगों से वाहवाही  मिलती है तो एक आतंरिक संतुष्टि की अनुभूति होती है और हर दिन एक नया जोश के साथ कुछ लिखने बैठ जाता हूँ |

मैं इस बातों  के लिए भी  अपने को  भाग्यशाली समझता हूँ कि मेरे ब्लॉग को पढने वालो में मेरे संगी – साथी के अलावा  मेरे बैंक के  उच्च कार्यपालक गन,  जिनमे MD GM DGM इत्यादि लोग भी है |  वे लोग  ना सिर्फ मेरे ब्लॉग को पढ़ते है बल्कि अपने विचारों से मुझे अवगत भी कराते रहते है |

वैसे कुछ लोग तो बैंक से तो retire हो गए है लेकिन अपने दैनिक ज़िन्दगी में बहुत सक्रिय है  और कुछ लोग अभी भी बैंक के जॉब में है और अपने अनुभव का लाभ बैंक को पहुँचा रहे है |

अभी कुछ दिनों पहले की ही बात है …एक हमारे पूर्व परिचित DGM, रमन्ना  साहेब ने हमारे फ्रेंड – रिक्वेस्ट को स्वीकार किया था और मुझे बहुत ख़ुशी महसूस हुई थी |

मैं अपने ब्लॉग पोस्ट को उन्हें भी share किया था और उनके कमेंट्स का इंतज़ार कर रहा था |

मुझे बहुत आश्चर्य हुआ कि वो मुझसे  इतना स्नेह रखते थे फिर भी मेरे ब्लॉग पोस्ट को खोल कर पढ़ा तक नहीं |

मैं अपना face Book जब  देख रहा था तो मैं shocked  हो गया, क्योंकि एक मेसेज पढ़ा ….जिसमे लिखा था …हमारे साहब अब इस दुनिया में नहीं रहे, उनका कल ही देहांत हो गया था |  

शायद वो बैंक ऑफिस में ही covid से संक्रमित हो गए थे और covid के कहर को झेल नहीं पाए ..और उनका  हॉस्पिटल में देहांत हो गया |

अचानक ही मेरे आँखों के सामने  पहले की एक  घटना याद आ गई जब वे हमलोगों के सामने कोलकाता  ऑफिस में अचानक बेहोश होकर गिर पड़े थे |

नाक से खून निकल रहा था | हमलोग बहुत घबरा गए थे | जल्दी से उन्हें पास के हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था और यहाँ के सभी ऑफिसर हॉस्पिटल में रात भर रह कर उनके स्वस्थ होने की दुआ करते रहे |

वो यहाँ अकेले ही रहते थे, इसलिए  हमलोग की जिम्मेवारी थी कि हमलोग उनकी देख भाल ठीक से करें क्योंकि हमलोग बैंक के स्टाफ भी तो एक परिवार ही है |

वे दुसरे दिन ही ठीक होकर घर आ गए थे और हमलोग राहत  की सांस ली थी |

लेकिन आज वो अपने परिवार के साथ थे लेकिन इस बार covid के कारण हम सभी को छोड़ कर इस दुनिया को अलविदा कह गए |

उनके निधन का  समाचार सुन कर गहरा दुःख हुआ | यह हम सभी लोग के लिए एक अपूरणीय क्षति है |

भगवान् दिवंगत  आत्मा को शांति दें  और उनके परिजनों  को दुःख की घड़ी  में साहस प्रदान करे …..

भावभीनी श्रद्धांजलि

  ॐ शान्ति ॐ  

9 thoughts on “# भावपूर्ण श्रद्धांजली #

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s