ख़ुशी की तलाश

ख़ुशी (Happiness) एक ऐसा मिठाई है जो सब लोग खाना चाहते है ,पर यह किसी मिठाई की  दुकान पर नहीं मिलती है, न ही यह पैसे से  खरीदी जा सकती है / इसे खुद से बनानी पड़ती है, लोगों का सहयोग भी लेना पड़ता है / जी हाँ ,मैंने कहीं पढ़ा था कि America के Hayward  university में एक रिसर्च पब्लिश हुआ था जो वहाँ के top ग्रेजुएट्स  से सम्बंधित  थे / उनके ज़िन्दगी को बारीकी से अवलोकन (Follow) किया गया, तो उसके नतीजे बहुत  ही चौकाने वाले थे / उन में से कुछ लोग तो अमेरिका के President भी  बने ,कुछ लोग Astronaut बने, कुछ scientist बने और नोवेल प्राइज से भी सम्मानित हुए, वही कुछ लोग क्राइम की दुनिया में चले गए और उन्हें जेल की हवा भी खानी पड़ी और कुछ लोगों ने ख़ुदकुशी भी कर ली / उन लोगों ने एक ही जगह से ,एक ही एनवायरनमेंट में पढाई की ओर top ग्रेजुएट बने, फिर भी सभी एक दुसरे से भिन्न हो गए / इसका कारण ढूंढा गया तो पाया कि कुछ लोग अपनी ज़िन्दगी से बहुत खुश थे तो कुछ लोग अपनी ज़िन्दगी से उदास एवं हताश हो गए थे, frustration का  शिकार हो गए थे /

जब सभी लोगों के life के बारे में अधिक अध्यन किया गया  और पता लगाया गया कि खुश कौन लोग थे, और कौन लोग अपनी ज़िन्दगी से नाखुश थे,  तो ये चौकाने वाला  तथ्य सामने आया कि ख़ुशी का कारण, धन दौलत नहीं, बड़ी पदों पर नौकरी, अच्छी lifestyle नहीं थे, बल्कि उनका sense of belonging, उनकी good relationship बनाने की कला थी ,  वे  रिश्ते निभाने की कला में माहिर थे और उन्होंने घर में हो या समाज में या कही और … सभी जगह अपने रिश्ते को मजबूत रखा, और कही भी distortion  आया तो उसे अच्छी तरह handle किया  और इन्ही strong relationship और   harmony के कारण उन्हें ज़िन्दगी में ख़ुशी का अनुभव हुआ /और ज़िन्दगी में एक मुकाम हासिल कर पाए /

 वैसे ख़ुशहाल ज़िन्दगी के लिए हम अपने आप को analyse करें तो पाते है कि हर इंसान के चार dimensions होते है और उसी पर टिका होता है हमारी ख़ुशी और दुःख : ये चार dimensions  है ..

१. Physical Quotient (P.Q.) : इसका मतलब है कि आप की health कैसी है / आप तभी ख़ुशी का अनुभव कर सकेंगे जब आप शारीरिक रूप से बिलकुल स्वस्थ है / और किसी ने ठीक ही  कहा है कि  सेहत ठीक रखने के लिए हमें चार नियमों का पालन करना चाहिए /

पहला नियम .. स्वस्थ भोजन और  समय पर भोजन  लें /

दूसरा नियम …रोजाना सुबह की सैर और थोड़ी सी कसरत करनी चाहिए, ताकि शरीर तंदरुस्त रह सके/ 

तीसरा नियम … पूरी नींद होनी चाहिए ताकि शारीर पूरी तरह से रिलैक्स हो सके / और अगर समय से सोना और  जागना ठीक से हो रहा है तो उसकी सेहत बिलकुल ठीक रहेगी /

और चौथा नियम है LEISURE TIME ..जी हाँ , ज़िन्दगी का सबसे महत्वपूर्ण पहलु है ,जिसे ज्यादातर लोगों के द्वारा  ध्यान नहीं दिया जा रहा है / विश्राम का समय (Leisure time) क्या है, इस पर पहले ही हमने article लिखा है ..कृपया पढ़े….. LEISURE TIME : Missing ? (blog no .25) https://infotainmentbyvijay.data.blog/2020/01/17/leisure-time-missing/

२. Intelligence  Quotient (I.Q.): Learning  is a continuous process.. हमेशा अपने को student बनकर कुछ ना कुछ knowledge को बढ़ाते रहना चाहिए / अपने समय को जानकारी बढ़ाने में खर्च करना चाहिए / चाहे skill Development हो या attitudinal domain  या  cognitive domain हो /

३. Emotional quotient (E.Q.): खुश रहने के लिए emotionally strong  होना ज़रूरी है / अगर आप को गुस्सा छोटी छोटी बातों में आ जाता है तो आप का E.Q कमजोर है इसे मजबूत करने के उपाय करने होंगे / अगर EQ कमज़ोर होगा तो छोटी छोटी समस्याओं से हम घबड़ा कर अपने लक्ष्य से विचलित हो जाएंगे और ख़ुशी से भी वंचित रह जाते है / हमें अपने feelings के साथ साथ दूसरों के feelings का भी ख्याल रखना चाहिए /

४. Spiritual Quotient: (S. P.): कोई भी काम सिर्फ पैसों के लिए ना करे, बल्कि लोगों का, समाज का भला हो और समाज का कल्याण हो / हम अंदर से शांति और  आनंद का अनुभव करते है जब हम लोगों के कल्याण के लिए काम करते है, / यह भी उतना ही ज़रूरी है जितना I.Q.,और  E.Q. और  P.Q. है/ इसलिए इन चारो dimension को balance कर ही ज़िन्दगी में खुशिओं को प्राप्त कर सकते है /

BE HAPPY… BE ACTIVE … BE FOCUSED ….. BE ALIVE,,

If you enjoyed this post don’t forget to like, follow, share and comments.

Please follow me on social media.. Instagram LinkedIn Facebook

7 thoughts on “ख़ुशी की तलाश

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s