खुशियों से अनबन

आज की सुबह कुछ अजीब महसूस कर रहा हूँ / रोज की तरह आज भी सुबह ठीक 5.०० बजे हमारी नींद खुली थी , लेकिन मेरे दिल और दिमाग के बीच एक जंग  छिड़ी हुई थीं , दिमाग कह रहा … Continue reading खुशियों से अनबन