# बुढापा की सेहत #

My mission in life is not merely to survive, but to thrive and to do so with some passion, compassion, humor & some style.

लोग कहते है कि बचपन में गुजरे पल .. सुनहरे पल होते है और बुढापा का समय काफी कस्टदायक  होता है।

परन्तु कुछ घरेलु उपाय किये जाएँ तो बुढ़ापे को भी बचपन की तरह आनंदमयी बनाया जा सकता है… .. पर कैसे ?

यह एक सवाल हर आदमी की जेहन में उठना लाज़मी है। तो आइये हम कुछ घरेलु नुस्खे कि चर्चा करें..

विज्ञानं  कहता है कि  हमारे शरीर के पुराने कोशिका ( cells)  मरते है और नए कोशिका (cells) का जन्म होता है |

लेकिन बुढ़ापे की उम्र  में पुराने कोशिका (Cells) मरते है पर नए कोशिका का  निर्माण रुक जाता है, इसका परिणाम चेहरे पर झुर्रियां और शरीर के मांसपेशियां  का ढीला हो जाना है |

अगर शरीर के कोशिका का पुनर्निर्माण  होता रहे तो चेहरे की झुर्रियों से बचा जा सकता है..| इसका आयुर्वेद में कुछ नुस्खे बताये गए है…जिससे बुढ़ापे को दूर रखा जा सकता है..आइए इस पर विचार किया जाये ..।

विटामिन A , विटामिन C और कोलिन बुढ़ापे के समय में शरीर को कम ही प्राप्त होता है क्योंकि शारीरिक मिहनत हम नहीं कर पाते है ,|

परन्तु इसकी ज़रुरत शरीर को ज्यादा होती है ताकि बुढ़ापे की असर को कम किया जा सके | इसकी पूर्ति के लिए आयुर्वेद में बहुत अच्छा नुस्खा है, जिसे मैं भी उपयोग करता हूँ |

४ चम्मच गेहूँ (wheat) और २ चम्मच मेथी के दाने (Fenugreek) दोनों को पानी से अच्छी तरह धो लें ताकि pesticide आदि निकल जाए और इसे आधा गिलास पानी में डाल कर रात में ( २४ घंटे तक) छोड़ दे |,

इसके बाद सुबह में गेहूँ और मेथी के दाने को गिलास से निकाल भींगे हुए साफ़ कपडे में बाँध कर हवा में टांग दीजिये, ताकि यह अंकुरित हो सके। 

गिलास में बचे हुए पानी को फेंके नहीं बल्कि उसमे १० बूंद नींबू का रस और एक चम्मच शहद  डाल कर सुबह खाली पेट पी लें।

इस पेय  को “संजीवनी पेय” कहते है, यह शक्तिवर्धक , स्फूर्ति दायक और पाचन तंत्र को दुरुस्त रखता है।

२४ घंटे के बाद जो गेहूँ और मेथी के दाने अंकुरित हो गए है उसमे थोड़ी सी गोलमिर्च का चूर्ण, और सेंधा नमक छिड़क कर सुबह सुबह खाली पेट में खाएं।

इसका रेगुलर सेवन से शरीर को दुरुस्त और बुढ़ापे को दूर रखा जा सकता है |,

शरीर को ज़रूरी पोषक तत्त्व , जैसे विटामिन A  और C के अलावा enzyme लिसिन, इसोलिओसिन, मेसोलिन इत्यादि भी प्राप्त होते है।

This is the homemade sanjeevani drink, try it once and enjoy the healthy  and happy life.

BE HAPPY… BE ACTIVE … BE FOCUSED ….. BE ALIVE,,

If you enjoyed this post, don’t forget to like, follow, share and comments.

Please follow the blog on social media….links are on the contact us  page

www.retiredkalam.com



Categories: health

12 replies

  1. Excellent writing… Infomative and useful too. Thanks

    Like

  2. Reblogged this on Retiredकलम and commented:

    People should be blessed in life with friends,
    who are both Mirrors and Shadows…
    mirrors don’t lie and Shadows never leave…

    Liked by 1 person

  3. बहुत अच्छी जानकारी है। साधुवाद 🙏

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: